saki

sakiउत्तर प्रदेश के बरेली में एक महिला की भूख के चलते मौत हो गई. महिला का नाम सकीना है. जो पिछले कई दिनों से बीमार भी थी. महिला को पति जब राशन लेने दुकान पर गया तो पत्नी के फिंगरप्रिंट के बिना उसे राशन देने मना कर दिया गया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मोहल्ला भोले नगर निवासी इशहाक अहमद एक झोपड़ीनुमा मकान में पत्नी सकीना (50) के साथ रहते थे. बीते दिनों पति के बीमार होने से उनके आर्थिक हालात बदतर हो गए. सकीना के अपने सभी जेवर बेचकर पति का इलाज कराया. इलाज में ही उनका सारा पैसा उठ गया और घर में खाने तक के अन्न का दाना नहीं रहा.

वहीँ दूसरी और फिंगरप्रिंट नहीं मिलने से राशन भी नहीं मिला. ऐसे में कई दिनों तक खाना नहीं मिलने से बीमार सकीना ने मंगलवार की रात को दम तोड़ दिया. सकीना के पति ने कहा कि मेरी पत्नी की हालत ऐसी नहीं थी कि उसे राशन दुकान पर ले जा सके. खाना नहीं मिला, तो पत्नी ने दम तोड़ दिया.

मामले के सामने आने के बाद डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने एसडीएम मीरगंज से मामले की रिपोर्ट मांगी है. डीएम ने कहा, मामले की रिपोर्ट के आधार पर ही दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी. हालांकि स्थानीय लोगों ने भी माना कि सकीना की मौत भूख से ही हुई है.

ध्यान रहे यह तीसरा मामला है, इससे पहले दो मामले झारखंड से सामने आ चुके है. झारखंड के सिमड़ेगा में 11 साल की एक बच्ची की 8 दिन से खाना न मिलने के कारण 28 सितंबर को भूख से मौत हो गई थी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?