hanu

मध्य प्रदेश में एक दलित युवक को कथित तौर पर व्‍हाट्सएप पर भगवान हनुमान की आपत्तिजनक तस्वीर पोस्ट करने के आरोप में शनिवार को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के अनुसार, बजरंग दल के सदस्य हेमराज ठाकुर की शिकायत पर शुक्रवार को युवक के खिलाफ मामला दर्ज किया था। ठाकुर ने अपनी शिकायत में कहा कि 17 साल के युवक ने उसकी और अन्य निवासियों की भावनाओं को आहत किया है। युवक ने व्‍हाट्सएप पर भगवान हनुमान की तस्वीर पोस्ट की, जिसके बराबर में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव आंबेडकर भी हैं। तस्वीर में देवता माफी मांगते हुए कुछ शब्द कह रहे हैं जो आत्तिजनक मालूम पड़ते हैं।

Loading...

मामले में पुलिस अधिकारी आईएस ठाकुर ने कहा, ‘धर्म या धार्मिक मान्यताओं का अपमान करके किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्यों को लेकर एक एफआईआर दर्ज कर ली गई है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। शुरुआती जांच के बाद आरोपी के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया जाएगा।’

बता दें कि बीते दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने भगवान हनुमान को दलित समुदाय से बताया था। राजस्थान में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि बजरंग बली दलित हैं। रैएक ऐसे लोक देवता हैं जो अब स्वयं वनवासी हैं, गिरवासी हैं, दलित हैं, वंचित हैं। पूरे भारतीय समाज को उत्तर से लेकर दक्षिण तक और पूरब से लेकर पश्चिम तक सबको जोड़ने का काम बजरंगबली करते हैं। इसलिए बजरंग बली का संकल्प होना चाहिए।’

जिसके बाद यूपी में दलितों ने हनुमान मंदिरों पर अपना दावा ठोक दिया। दलित उत्थान सेवा समिति के अध्यक्ष नरेंद्र गौतम और पूर्व मंत्री राज बहादुर के नेतृत्व में संगठन के अन्य लोग हजरतगंज के दक्षिणमुखी हनुमान मन्दिर पहुंच गए। मंदिर पहुंच इन लोगों ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। इसके बाद मंदिर पहुंचे संगठन के लोगों ने सभी हनुमान मंदिरों के प्रबंधन में दलितों को भी जिम्मेदारी देने की

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें