Wednesday, August 4, 2021

 

 

 

चोरी के आरोप में दलित भाइयों को बंधक बनाकर पीटा, गुप्तांग में पेट्रोल भी डाला

- Advertisement -
- Advertisement -

जयपुर: राजस्थान के नागौर में चोरी के आरोप में दो दलित भाइयों को बंधक बनाकर पीटने का मामला सामने आया है। घटना जिले के पांचौड़ी थाना क्षेत्र के करणू गांव की है। आरोप है कि युवक के साथ पहले मारपीट की गई और उसके बाद पीड़ि‍त के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाल दिया गया।

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने बुधवार को सात आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर इनमें से पांच जनों को गिरफ्तार किया है। वीडियो में नागौर शहर के एक गांव में पेट्रोल पंप पर कुछ लोग दोनों भाइयों में से एक को पीटते दिखाई दे रहे हैं। 24 वर्षीय युवक अपने चचेरे भाई के साथ पेट्रोल पंप गया था।

पुलिस के अनुसार पीड़ित युवक ने पांचौड़ी थाना इलाके के मोतीनाथपुरा निवासी भीवसिंह, सोननगर निवासी आईदान लछमण सिंह, रामसर निवासी जसूसिंह, मोतीनाथपुरा निवासी सवाईसिंह, हड़मासिंह, करनू निवासी गणपतराम के खिलाफ अमानवीय तरीके से मारपीट कर गुप्तांग में पेट्रोल डालने का प्रकरण दर्ज कराया है।

नागौर एसपी डॉ. विकास पाठक ने बताया कि पुलिस को समय पर मामले की सूचना नहीं मिली थी। जैसे ही वीडियो वायरल हुए तो पुलिस ने पीड़ितों से सम्पर्क कर रिपोर्ट ली और प्रकरण दर्ज करने के साथ ही पांच आरोपी हड़मान, रघुवीर, आईदान, छैल एवं रहमतुल्ला को िगरफ्तार कर िलया गया है। अन्य की पहचान करने के साथ गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में आरोपियो की हैवानियत नजर आ रही है। आरोपियों ने बर्बर तरीके से मारपीट की।आरोपियों ने पहले युवक के साथ हाथापाई की और इसके बाद बेल्ट और तारों से पीटा। इतने से भी मन नहीं भरा तो आरोपियों ने बारी-बारी से पीटा और बीच-बीच में दलित युवक को पानी पिलाते रहे। आखिर में एक आरोपी ने पेचकस में कपड़ा लपेटा और उसे पेट्रोल से भिगोकर युवक के प्राईवेट पार्ट में डाल दिया। घटना के दौरान पीड़ित का चचेरा भाई भी उसके साथ था। आरोपियों ने उसे भी पीटा और एक तरफ बैठा दिया।

आरोपियों द्वारा की गई मारपीट के दौरान पीड़ित ने कई बार हाथ जोड़े और गुहार लगाई, चीख-चीख कर छोड़ने की बात कही, लेकिन आरोपियों ने उसकी नहीं सुनी। युवक के साथ लगातार मारपीट की जाती रही। आखिर में जब पीड़ित की हालत बिगड़ी तो उसके पड़ोसियों को फोन किया और बाद में निकट के तांतवास अस्पताल ले जाकर प्राथमिक ईलाज कराया और घर छोड़ दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles