umar15

umar15

कथित गौरक्षा के नाम पर राजस्थान के अलवर में हुई उमर की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. गोली मारकर उमर की हत्या कर देने के बाद उसका सिर भी काटा गया था. उसके बाद शव को क्षत-विक्षत कर पटरियों पर फेंका गया.

इस बात का दावा सबसे पहले उमर की लाश को देखने वाले रेलवे कर्मचारी सोनु कुमार ने किया है. उन्होंने कहा कि शव को देखने से ही पता चल रहा है कि पहले उसका सिर कलम किया गया और बाद में ट्रैक पर फेंका गया.

इस दावे की पुष्टि करने के लिए सोनू ने कहा कि रेल के पहियों से सिर कटने पर शव की स्थित अलग होती. उन्होंने कहा,  उमर की लाश ट्रैक के बीचों-बीच में थी, लेकिन सिर उसके बाहर था, उसके पैर और अन्य अंगों पर चोट के निशान थे, मुझे विश्वास है कि शव को ट्रैक पर लाकर रखा गया था. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि अगर शरीर ट्रैक के बीच में हो तो सिर कैसे कटा हुआ हो सकता है?

मथुरा के रहने वाले सोनू रेलवे स्टाफ 148 / 3-4 पर तैनात है. इसी तरह का दावा एक अन्य रेलवे कर्मचारी जगदीश प्रसाद ने भी किया. उन्होंने कहा, यह केस पहले सर काटने और बाद में लाश फेंकने का है.

उल्लेखनीय है कि 9 नवम्बर की देर रात अलवर जिले से भरतपुर स्थित अपने गांव से एक पिकअप में गाय लेकर जा रहे उमर, ताहिर और जावेद को कथित गौ रक्षकों ने रोक कर मारपीट की थी. साथ ही उमर की गोली मारकर हत्या कर दी थी. और उसके शव को पटरियों पर फेंक दिया था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?