राजस्थान में टोंक जिले के मालपुरा थाना क्षेत्र में कावड़ियों द्वारा मुस्लिम क्षेत्र मालपुरा में डीजे पर आपत्तिजनक गाना लगाए जाने के बाद उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। दरअसल, शुक्रवार को मस्जिद के पास मुस्लिमो को उकसाने के लिए विवादित गाना चलाकर कावड़ यात्रा निकाली गई थी। जिसके चलते हिंसा शुरू हो गई।

शुक्रवार को भी हालात में सुधार न देखने पर तनावग्रस्त मालपुरा इलाके में अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है।एडिशनल एसपी गोवर्धन सेकारिया ने कहा कि मालापुरा इलाके में शुक्रवार को एक बार फिर हिंसा भड़की और पत्थरबाजी हुई।

मुसलमानों के ख़िलाफ़ आपत्ति जनक गाना बजाने वाले असामाजिक तत्वों को चार से पाँच मुसलमानों ने दौड़ा दौड़ाकर पीटा.इसको धर्म से ना जोड़ा जाए कोई धर्म दूसरे धर्म को बुरा भला नहीं कहता. अगर आप भी इन समाज के नासुरों को हिन्दू धर्म के रखवाले समझते हैं तो यक़ीन जानिए आप भी आतंक को बढ़ावा दे रहें हैं..कट्टरपंथीयों के साथ हमेशा ऐसा ही हो भले ही वह किसी भी धर्म से हो.

नवेद चौधरी ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಗುರುವಾರ, ಆಗಸ್ಟ್ 23, 2018

शहर में शुक्रवार तो तिरंगा यात्रा निकाली जानी थी। जिसके तनाव को देखते हुए स्थगित कर दिया गया था, लेकिन कुछ हिंदू संगठन बिना सूचना के तिरंगा लेकर माठक चौक पहुंच गए। जो कावड़ियों पर हुए पथराव और मारपीट का विरोध करने लगे। इस दौरान पुलिस ने भीड़ पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज किया। साथ ही आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

कलेक्टर ने बताया कि मालुपरा में स्थिति अब कंट्रोल में है। कानून व्यवस्था को देखते हुए धारा 144 लगा दी है। उन्होंने लोगों से भी शांति बनाए रखे। एसपी योगेश दााधीच भी मय जाप्ते के शाम करीब 6 बजे मौके पर पहुंचे और अधिकारियों से पूरी घटना का फीडबैक लेकर माहौल को खराब करने वाले लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano