मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 3 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाकर इलाके को छावनी में तबदील कर दिया गया है।दरअसल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के केशव नीडम कार्यालय में फेंसिंग का काम शुरू होना है। RSS की और से बाउंड्री वॉल का निर्माण कराया जा रहा है। जिसका एक समुदाय विशेष की और से विरोध होने की पूरी संभावना है।

भोपाल के अपर कलेक्टर दिलीप कुमार यादव ने बताया कि शांति बनाए रखने के लिए पुराने भोपाल शहर के थाना हनुमानगंज, टीलाजमालपुरा एवं गौतम नगर क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, भोपाल शहर के 11 थाना क्षेत्रों-शाहजहानाबाद, छोला मंदिर, निशातपुरा, तलैया, मंगलवारा, अशोका गार्डन, ऐशबाग, जहांगीराबाद, स्टेशन बजरिया, बैरसिया एवं नजीराबाद में धारा-144 लगाई गई है। यादव ने बताया कि भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने ये आदेश रविवार सुबह जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि यह आदेश रविवार सुबह नौ बजे से आगामी आदेश तक लागू रहेगा।

कोई भी व्यक्ति मेडिकल जरूरत को छोड़कर घर से बाहर नहीं निकलेंगे, सभी व्यवसायिक संस्थान दुकानें, उद्योग पूरी तरह बंद रहेंगे, केवल हॉस्पिटल्स, मेडिकल दुकानें खुली रहेंगी, यह आदेश शासकीय सेवक, पुलिसकर्मी, सशस्त्र बल पर लागू नहीं होगा, यह आदेश शैक्षणिक या प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों पर भी लागू नहीं होगा, प्रवेश पत्र आईडी कार्ड दिखाने पर निर्बाध रूप से आगमन कर सकेंगे, यह आदेश इन परीक्षाओं की ड्यूटी में लगे कर्मचारियों पर भी लागू नहीं होगा।

भोपाल डीआईजी इरशाद वली ने कहा कि एक न्यास (ट्रस्ट) को लेकर यह जमीन विवाद है। अदालत में चले इस विवाद को इस न्यास ने जीत लिया है और रविवार को यह न्यास इस जमीन पर कब्जा करने जा रहा है। वली ने बताया कि इस घटनाक्रम को लेकर तनाव का डर था, इसलिए ऐहतियाती तौर यह कर्फ्यू एवं धारा-144 लगायी गई है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने इलाके में अवरोधक लगाये हैं और इन इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।