kcr11

तेलंगाना सरकार पर आॅल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और भाई अकबरदुद्दीन ओवैसी की और से चंद्रायनगुट्टा के पास बंदलागुदा में बनाए जा रहे अस्पताल के लिए करोड़ों की जमीन को कम कीमत में देने का आरोप लगा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक सरकार ने ओवैसी के अस्पताल को हैदराबाद की प्राइम लोकेशन पर 6500 स्क्वॉयर फीट जमीन आवंटित की है। यह जमीन चन्द्रगुंगता (Chandrayangutta) स्थित बांदागुडा (Bandlaguda) के पास है। रविवार को राज्य कैबिनेट की हुई बैठक में जमीन आवंटन के फैसले पर मुहर लगाई।

राज्य सरकार ने बीते कई सालों तक इस जमीन के मालिकाना हक के लिए मुकदमा लड़ा है। यही नहीं इससे पहले हैदराबाद के जिला प्रशासन और राजस्व विभाग द्वारा साल 2009 में जारी किया गया अनापत्ति प्रमाणपत्र भी रद कर दिया गया। बाद में इस जमीन पर कब्जा ले लिया गया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

टीओआई की खबर के मुताबिक, एमआईएम प्रमुख असदउददीन ओवैसी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव से कुछ​ दिनों पहले मुलाकात की थी। ओवैसी ने उनसे वह जमीन ओवैसी अस्पताल के विस्तार के लिए देने की अपील की थी।

ये भूखंड ओवैसी के अस्पताल के ठीक पीछे ही मौजूद है। ओवैसी को यह छूट गरीब परिवारों का इलाज करने और अन्य रोगियों की मदद के लिए दिया गया है।

Loading...