Sunday, September 19, 2021

 

 

 

आरएसएस के इशारे पर मुसलमानों के खिलाफ साजिश, मुसलमान शरीअत कानून में बदलाव बर्दाश्त नहीं करेंगे

- Advertisement -
- Advertisement -

madani-620x400

साहेबपुरकमाल गांव में आयोजित तहफ्फूज शरीअत कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए जमीयत-उलेमा-ए हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने आरएसएस पर मुसलमानों के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाते हुए कहा कि आरएसएस के इशारे पर ही कामन सिविल कांड लाया जा रहा हैं लेकिन हिन्दुस्तान के मुसलमान इसे कबूल नहीं करेंगे.

उन्होंने आगे कहा कि यह देश सेक्युलर सिद्धांतों पर चलता रहा है. देश में सरकार के द्वारा जिस तरह के कानून थोपने की कोशिश की जा रही है. वह सही नहीं है. हिन्दुस्तान के मुसलमान शरीअत कानून में किसी तरह के संशोधन बर्दाश्त नहीं करेंगे.

उन्होंने मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि इस देश के मुसलमान मूल नागरिक है जिसे इस्लाम के बने कानून के हिसाब से जीवन जीने का पूरा हक है.  मुसलमानों ने सदियों से अपना खून बहा देश के सद्भाव को मजबूत किया है और आगे भी करते रहेंगे.

उन्होंने आगे कहा कि हिन्दुस्तान गंगा- जमुनी तहजीब का देश रहा है. कोई भी फिरकापरस्त ताकत हमारे मुल्क के इस तहजीब को कुछ नहीं बिगाड़ सकता. इस मौके पर उन्होंने मुसलमानों से देश के किसी भी मुद्दे पर शांतिपूर्वक अपनी बात रखने की अपील की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles