bar

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थित कांग्रेस भवन में बीते गुरुवार को आखिरी सूची जारी होते ही बवाल मच गया है।रायपुर दक्षिण से एजाज ढेबर की जगह कन्हैया अग्रवाल को टिकट मिलने से नाराज एजाज समर्थकों ने राजीव भवन में जमकर तोड़फोड़ कर दी।

इस दौरान कांग्रेस भवन में रखे गमले और दिवारों पर लगी तस्वीरों के साथ-साथ कुर्सियों और गमलो को भी तोड़ दिया। वहीं रायपुर के दक्षिण विधानसभा सीट के लिए एजाज ढेबर को टिकट नहीं मिलने से उनके नाराज समर्थकों ने नए कांग्रेस भवन में भी जमकर बवाल काटा। वहां रखे सामानों को तोड़ते हुए जमकर नारेबाजी की। इस दौरान हंगामे को काबू में करने के लिए मौके पर पुलिस तक बुलानी पड़ गई।

Loading...

इस दौरान एक घंटे से भी अधिक समय तक एजाज ढेबर कांग्रेस भवन में ही रहे और प्रदेश प्रभारी पी. एल. पुनिया से आश्वासन मिलने के बाद वापस लौटे। इस पूरे हंगामे पर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पी. एल. पुनिया ने कहा कि ये सभी पार्टियों में हो रहा है। बीजेपी में भी टिकट वितरण के बाद से बवाल जारी है। यहां तक कि इस्तीफे का दौर भी चल रहा है, लेकिन कांग्रेस पार्टी में ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

राजीव भवन में तोड़फोड़ पर पुनिया ने कहा कि कोई चलते हुए टकरा जाए और कोई चीज टूट जाए, तो उसे तोड़फोड़ नहीं कहते। कुछ ज्यादा लोग पार्टी कार्यालय आए थे, उनसे बात हुई। उन्हें बात रखने का अधिकार भी है। उनकी बात सुनी गई। उसके बाद उन्हें जवाब भी मिला। सब परिवार के सदस्य हैं। बातचीत के बाद सब राहुल गांधी जिंदाबाद, सोनिया गांधी जिंदाबाद, पुनिया जिंदाबाद के नारे लगाकर गए।

इधर, एजाज ढेबर ने तोड़फोड़ की निंदा की है। उनका कहना है कि उनकी जानकारी ही नहीं, कौन लोग थे। पार्टी कार्यालय नेताओं और कार्यकर्ताओं के पैसे से बना है। उससे सबका नुकसान हुआ है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें