rdescontroller

उत्तर प्रदेश में महराजगंज के पनियरा क्षेत्र में रविवार को मुहर्रम के झंडे को हटाकर भगवा झंडा लगाने को लेकर दो समुदायों के बीच हिंसा भड़की गई जिसमे कई लोग घायल हो गये। देखते ही देखते कहासुनी से शुरू हुए विवाद ने हिंसक रूप ले लिया।

घटना की जानकारी जैसे इलाकाई पुलिस को लगी मौके पर पहुंची और कानून व्यवस्था लागू करने के उद्देश्य 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।  गांव में तनाव बना हुआ है। घटना के बाद पुलिस की एकतरफा कार्रवाई से मुस्लिमों ने पलायन करना शुरू कर दिया है। 

स्थानीय निवासी राम नयन द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के बाद प्राथमिकी दर्ज की गई और आरोपियों की गिरफ्तारी हुई। आईपीसी की धारा 147, 323, 504, 336 और 436 के तहत 14 ज्ञात और 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिन ज्ञात लोगों के खिलाफ पनीवारा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है, सभी मुस्लिम समुदाय के हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं, पनीवारा पुलिस थाने के एसएचओ मनीष कुमार सिंह ने बताया कि, “दूसरे समूह (मुस्लिम) ने अभी तक किसी तरह की शिकायत दर्ज नहीं करवाई है।” महाराजगंज सर्किल ऑफिसर देवेंद्र कुमार ने बताया कि, “10 लोगों को गिरफ्तार किया गया और उन्हें स्थानीय कोर्ट में पेश करने के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। सभी गिरफ्तार लोग बरगडवा गांव के रहने वाले हैं।”

जानकारी के अनुसार, मारपीट में गोबरी (58), कमला देवी (50), मदन राजभर (23), सुनील (18), दिलीप (25) , बदरुद्दीन (25), महंगी (80), रामनयन राजभर (55), कदीरून निशा (50) , तजरुन निशा (14), शकरून निशा (35), अनवारी देवी (60) और श्रवण (20) घायल हुए है।

Loading...