3253456

गुजरात के भावनगर में एक मामला सामने आया है जिसमें भाईचारा और लोगों की मोहब्बत सामने आई है. बुरे वक़्त में अगर कोई किसी के काम आता है हमारी नज़रों में उसकी इज्ज़त और भी बढ़ जाती है. एक ऐसा ही वाकया गुजरात में भी पेश आया जहाँ मंगलवार को हुए सड़क हादसे में घायलों की मदद के लिए मुस्लिमों ने हाथ बढाया और बिना खुद की परवाह किये बिना उनकी मदद की.

पेश है गुजरात से इरफ़ान सफीर की रिपोर्ट-

देश में क़ौमी एकता अब भी एसी ही मौजूद हैं जैसी पहले थी. आज भी लोग एक साथ मिल-झूल कर रहना चाहते है और इस की जीती-जागती मिसाल गुजरात के भावनगर में देखने को मिली. मंगलवार को बोटाद जिले के टाटम गाँव में पालीताना से एक बारात ट्रक में सवार हो कर आ रही थी तब रास्ते में रांघोला के पास सड़क हादसा हुआ जिसमें 27 लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई जबकि 5 लोगों का ईलाज के दौरान निधन हो गया.

कोहराम न्यूज़ से बात करते हुए इरफ़ान सफीर ने बताया कि, घटना की खबर सुनते ही सभी मज़हब के लोग दुःख की घड़ी में ठाकुर-कोली समाज की मदद के लिए आगे आये और उनके साथ खड़े रहे. घायलों को तुरंत खून की ज़रूरत थी और यह बड़ी मदद की मुसलमान भाइयों ने जिन्होंने बिना कुछ सोचे समझे घायलों को 50 बोतल खून दिया.

इसके बाद धारी गाँव के गुजरात क्षत्रिय ठाकुर सेना के उप प्रमुख अरविंद सिंह ठाकुर ने व्हाट्सऐप पर एक संदेश जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा कि “भावनगर के रांघोला गाँव की ऐक्सिडेंट दुर्घटना में जो मुस्लिम समाज के भाईओ ने हमारे ठाकुर समाज के लिए जो रक्त का बलिदान दिया हैं इसके लिए मैं अरविंद सिंह ठाकुर उन्हें और उनके माता-पिता को दो हाथ जोड़कर नतमस्तक होकर उनका शुक्रिया करता हूँ. उन्होंने आगे लिखा वाह मियाँभाईयों वाह धन्य हैं आप की माँ को.”

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?