उत्तर प्रदेश में अब किसानों के दो से अधिक भैंस पालने पर कमर्शियल बिजली कनेक्शन लेना जरूरी हो गया है। कमर्शियल बिजली कनेक्शन शहरी क्षेत्र में ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्र में लेना जरूरी होगा।

जानकारी के अनुसार, पावर कॉरपोरेशन ( power corporation ) की टीम ने ग्रामीण इलाकों में सर्वे भी शुरू कर दिया है। दो से अधिक भैंस मालिकों और घरों की सूची बनाई जा रही है। बिजली कर्मियों का कहना है कि ऐसे लोगों के यहां कमर्शियल बिजली कनेक्शन लगाने के निर्देश हैं।

पॉवर कॉरपोरेशन के चीफ इंजीनियर आर के राणा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में लोग अपने घरों में डेयरी चला रहे हैं। दो से अधिक भैंस रखने वालों के यहां बिजली की खपत अधिक होती है और इसी को देखते हुए उनके बिजली कनेक्शन को कमर्शियल कनेक्शन में कन्वर्ट किए जाने का कार्य शुरू किया गया है।

उन्होने कहा, गांव देहात में खेती के कनेक्शन पर कमर्शियल कार्य किए जा रहे हैं। कमर्शियल डेरियां चलाई जा रही हैं और उनमें बड़े वोल्टेज वाली मशीनें रखी गई हैं जिससे बिजली की खपत अधिक हो रही है। ऐसे लोग बिजली का कमर्शियल उपयोग कर रहे हैं और पशु पालकर उनके दूध को बेच रहे हैं जबकि उनके यहां जो करेक्शन हैं वह कमर्शियल नहीं हैं।

अब बिजली विभाग ( UP power corporation ) ऐसे लोगों की न केवल उनके बिजली कनेक्शन  को कमर्शियल मीटर में बद रहा बल्कि भारी भरकम जुर्माना भी लगा रहा है।  रईस पुर गांव में रहने वाले भोपाल सिंह जाटव पर चार भैंस होने के चलते 60 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano