Friday, January 28, 2022

सीएम योगी बोले – कमलेश तिवारी के मामले की जांच एनआईए करेगी

- Advertisement -

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की ह*त्‍या के मामले भले ही यूपी पुलिस ने सुलझाने का दावा किया हो। लेकिन कार्रवाई से असंतुष्ट सीएम योगी ने मामले की जांच एनआईए (NIA) से कराने की बात कही।

लखनऊ के कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने जानकारी देते हुए कहा है कि हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी मर्डर केस की जांच एनआईए से कराने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा लखनऊ के पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी इस मामले में उन पुलिसकर्मियों की जांच करेंगे जो कमलेश की सुरक्षा में लगे हुए थे। पहले से गठित एसआईटी इस मामले की जांच करते हुए एनआईए को मदद करेगी।

कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने जानकारी देते हुए कहा कि जो सुरक्षाकर्मी कमलेश तिवारी की सुरक्षा में तैनात थे उनके खिलाफ लखनऊ के एडीएम और अपर पुलिस अधीक्षक जांच करेंगे। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि बीजेपी के फायर ब्रैंड नेता सुब्रमण्‍यन स्‍वामी ने मामले की जांच राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से कराने की मांग की थी। स्‍वामी ने ट्वीट कर कहा, ‘कमलेश तिवारी (हत्‍याकांड) की प्रथम दृष्‍टया मौजूद साक्ष्‍यों के परीक्षण के आधार पर एनआईए से जांच कराने की जरूरत है। पागल मुल्‍ला आर्टिकल 370 को खत्‍म किए जाने के बाद कश्‍मीर में फेल हो गए हैं और वे सांप्रदायिक दंगे को भड़काना चाहते हैं।’ कमलेश तिवारी ह*त्‍याकांड की जांच अभी यूपी एसटीएफ कर रही है।

हालांकि दूसरी और कमलेश तिवारी की माँ ने सीधे तौर पर अपने बेटे की ह*त्या के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जिम्मेदार बताया है।  ABP न्यूज़ के अनुसार, उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ मेरे बेटे से जलते थे, उसकी पार्टी से जलते थे। उनका कहना है कि योगी सरकार की लापरवाही से कमलेश की ह*त्या हुई। उन्होंने यहां तक कहा कि योगी ने कमलेश को मरवा दिया।

सीएम के साथ साथ उन्होंने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि नाका पुलिस की मिलीभगत से इस हत्या को अंजाम दिया गया। कुसुम तिवारी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने कमलेश की सुरक्षा घटा दी। अखिलेश सरकार में 17 सुरक्षाकर्मी दिए गए थे और योगी सरकार में 4।

वहीं यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने शनिवार को लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस मामले में अब तक तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। ये इनके नाम हैं – रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान है। डीजीपी ने कहा कि आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles