उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी (मानू) के रीजनल सेंटर के खोले जाने को लेकर अपनी सहमति दे दी हैं. उन्होंने इसके लिए 12 एकड़ जमीन आवंटित करने की भी बात कही. इस बारें में यूनिवर्सिटी के चांसलर जफर सरेशवाला ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलकात की थी.

आधे घंटे चली इस मुलाक़ात के बारें में उन्होंने कहा कि उनकी मुख्यमंत्री से मुस्लिमों से जुड़े कई मसले पर चर्चा हुई. उन्होंने बताया है कि मुख्यमंत्री ने मुसलमानों के शैक्षिक विकास के लिए हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया. उन्होंने कहा कि जल्द ही लखनऊ में  परिसर निर्माण होने के बाद यूनिवर्सिटी का 12वां रीजनल सेंटर खुलेगा.

वहीँ योगी सरकार ने अल्पसंख्यक वर्ग की गरीब लड़कियों की शादी भी कराने का फैसला किया है. इसके तहत सरकार दुल्हा-दुल्हन की हर जरूरत को भी पूरी करेगा. यूपी सरकार की इस योजना के तहत हर साल 100 मुस्लिम लड़कियों की शादी कराई जाएगी.

इसके अलावा योगी सरकार ने राज्य के मदरसों का आधुनिकीकरण भी कराएगी. अल्पसंख्यक समुदाय की शिक्षा के महत्व को समझते हुए योगी सरकार ने फैसला किया है कि न सिर्फ मदररसों का आधुनिकीकरण किया जाएगा बल्कि इसके पाठ्यक्रम में हिंदी, विज्ञान और अंग्रेजी जैसे रोजगार परक विषय भी शामिल किए जाएंगे.

इतना ही नहीं मदरसों में पढ़ने वाले छात्रों के खातों को आधार से जोड़ा जाएगा ताकि उन्हें वजीफे की राशि आसानी से मिल सके.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें