राजस्थान में वसुंधरा राजे के आने के साथ ही शीर्ष से लेकर हर विभाग में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की सीधी दखल हैं. इस बात का खुलासा एक कॉलेज लेक्चरर और सीकर से बीजेपी सांसद सुमेधानंद के बीच हुई बातचीत का खुलासा हुआ हैं.

सांसद सुमेधानंद ने कहा है कि संघ के आगे राज्य की मुख्यमंत्री भी नतमस्तक हैं. सांसद ने कहा कि संघ जिसे चाहता है, वहीं मनमाफिक पोस्टिंग मिलती है. बिना संघ के इस जमाने में स्थानांतरण और मनमाफिक पोस्टिंग नहीं ली जा सकती. ऑडियो में सुनाई दे रही बातचीत के अनुसार, श्रीधर शर्मा कॉलेज में लेक्चरर है, जिसने अपने स्थानांतरण को लेकर सांसद से बात की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ऑडियो में कॉलेज लेक्चरर सांसद से गुजारिश करते नजर आ रहे हैं. जिसमे सांसद सांसद महोदय शर्मा को समझा रहे कि सीएम कार्यालय भी संघ के आगे नतमस्तक है. यहाँ तक कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी संघ के इशारे पर काम करती हैं. ऐसे में बिना संघ के इस जमाने में स्थानांतरण और मनमाफिक पोस्टिंग नहीं ली जा सकती. सांसद ने कहा कि संघ जिसे चाहता है, वहीं मनमाफिक पोस्टिंग मिलती है.

सांसद ने स्वयं माना है कि संघ के आगे बड़े से बड़े लोग नतमस्तक होते हैं और जब संघ किसी मामले में खिंचाई करता है तो स्थानांतरण और पोस्टिंग कोई मायने नहीं रखता है. ऑडियो में, शर्मा ने आरएसएस के कार्यकर्ता ग्यारसी लाल पर नैतिक द्वेषता निकालने की बात की तो सांसद ने कहा कि मैं इस बारें में कुछ नहीं कर सकता.

Loading...