महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा सनातन संस्था के अड्डों से शुक्रवार को मुंबई के निकट नालासोपारा से भारी मात्रा में विस्फोटक और फिर अगले ही दिन शनिवार को पुणे से अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया गया।एटीएस की इस बड़ी कार्रवाई ने हिंदुवादी आतंकियों के नापाक मंसूबों पर पानी देर दिया।

इस पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होने कहा कि बहुत सारी खुफिया सूचनाओं के बाद एटीएस ने यह ऑपरेशन शुरू किया है। फडणवीस ने कहा, ‘आरोपियों के पास से जो सामग्री बरामद की गई है वह बेहद खतरनाक है। किसी भी आतंकी या असामाजिक गतिविधि के लिए इसका दुरुपयोग हो सकता था। ऐसे में फिलहाल जांच जारी रहेगी और इसी जांच के आधार पर हम अपने उद्देश्य और लक्ष्य तक पहुंचेंगे।

दूसरी और विपक्ष ने सनातन संस्था पर प्रतिबंध की मांग को तेज कर दिया है। कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने शनिवार को कहा कि दक्षिणपंथी संगठन सनातन संस्था पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए। कांग्रेस नेता ने कहा कि यह संगठन ध्रुवीकरण के साथ-साथ धर्मनिरपेक्ष ताकतों को तोड़ने की साजिश का हिस्सा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

3 1533865913

चव्हाण ने एएनआई से कहा, ‘एटीएस ने 50 बमों के निर्माण की सामग्री के साथ 20 बम बरामद किए हैं। सनातन संस्था के वैभव राउत समेत 2-3 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इसके पीछे ध्रुवीकरण और धर्मनिरपेक्ष ताकतों को तोड़ने की बड़ी साजिश है। इस संस्था को बैन कर देना चाहिए।’

बता दें कि सनातन संस्था के आतंकवादी साजिश को इसी महीने में ही अंजाम देने वाले थे। आतंकियों ने इसके लिए मुंबई, पुणे, नालासोपारा, सातारा और सोलापुर में कई जगहों की रेकी भी कर ली थी। फिलहाल एटीएस यह पता लगाने में जुटी है कि एटीएस धमाकों के लिए विस्फोटक सामग्री कहां से लाई गई और इनका मास्टरमाइंड कौन है।