77a30e9d 6336 4fb8 9476 f2fefb579372

गोंडा: आयुक्त देवीपाटन सुधेश कुमार ओझा ने अभिनव पहल की शुरूआत करते हुए मण्डल के सभी 7165 प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में स्वच्छता, पौधरोपण व पालथीन प्रयोग न करने सम्बन्धी जागरूकता रैली का शुभारम्भ किया। जनपद गोण्डा सहित मण्डल के सभी जनपदों में स्कूली बच्चों द्वारा रैली निकालकर गांव-गांव भ्रमण कर अभिभावकों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया। स्वयं आयुक्त ने जनपद श्रावस्ती के विकासखण्ड गिलौला के अन्तर्गत प्राथमिक विद्यालय भिखारी पुर मसड़ी एवं प्राथमिक विद्यालय दन्दौली में बच्चों द्वारा निकाली गई स्वच्छता जागरूकता रैली को हरी झण्डी को रवाना किया तथा बच्चों के साथ पौधरोपण किया। बहराइच व बलरामपुर में जिलाधिकारियों व मुख्य विकास अधिकारियों तथा जनपद गोण्डा में बीएसए रमाकान्त वर्मा की अगुवाई में रैली निकाली गई।

रैली का शुभारम्भ करने के उपरान्त आयुक्त ने बतौर मुख्य अतिथि कहा कि वृक्ष और स्वच्छता हमारे जीवन में भोजन और पानी की तरह ही महत्वपूर्ण हैं। वृ़क्ष के बिना जीवन बहुत कठिन है क्योंकि हमें स्वस्थ और समृद्ध जीवन देने में पेड़ का मुख्य पहलू है। वृक्ष प्राकृतिक संतुलन के साथ-साथ शुद्ध ऑक्सीजन और हवा देते हैं तथा वातावरण को स्वच्छ और सुन्दर बनाने में बहुत बड़े सहयोगी होते हैं। ये हमें सुरक्षा, छाया, भोजन, कमाई का जरिया, घर, दवा आदि भी देते हंै। स्वच्छ वातावरण के लिए जन-जन को एक वृक्ष लगाने का संकल्प लेकर काम करना होगा तथा पाॅलीथीन का भी परित्याग करना होगा और बीमाकरयों से बचनेके हमें अपने घर, कार्यालय के आस-पास स्वयं सफाई पर ध्यान देना होगा।

77

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स्वच्छता अभियान में जब तक गांव-गांव के हर नागरिक की भागीदारी नहीं होगी तब तक यह अभियान कदापि सफल नहीं हो सकता है इसलिए लोगों में जागरूकता लाकर ही इस मिशन को पूरा किया जा सकता है। इस अवसर पर दोनो विद्यालयों में आयुक्त ने आम का वृ़क्ष लगाकर सघन वृक्षारोपण का संदेश भी दिया तथा स्कूली बच्चों को बताया कि पेड़ धरती पर बारिश का साधन होता है क्योंकि वो बादलों को आकर्षित करते हैं जो अंत में बारिश लाता है। मानव समाज को पॉलीथीन से होने वाले प्रदूषण के बचाव के लिये बढ़ चढ़ कर आगे आना होगा और अपने-अपने स्तर पर इससे निपटने के लिये सहभागी होना होगा। इसमें चाहे बच्चें हों या बूढ़े, स्त्री हों या पुरूष शिक्षित हों या अशिक्षित, अमीर हों या गरीब, शहरवासी हो या गाँववासी सभी को इससे निजात पाने के लिये दिल से काम करना होगा।

उन्होने बच्चों का आहवान किया कि परिवार के बड़े सदस्य स्वयं पॉलीथीन का प्रयोग न करने दें साथ ही सभी दूसरे सदस्यों को भी इसका प्रयोग करने से रोकें। आस-पास के लोगों को भी इसके विषय में जानकारी दें तो यह सबसे बड़ा कदम होगा इसके निवारण में। उन्होने कहा कि यदि बाजार खरीदारी करने जाएँ तो अपने साथ जूट या कपड़े निर्मित थैले लेकर जाएँ और यदि दुकानदार पॉली में सामान दें तो उनको भी इसका प्रयोग करने से रोकें और पॉलीथीन का बहिष्कार करें। वर्तमान में प्लास्टिक प्रदूषण एक गंभीर वैश्विक समस्या बन गया है। दुनिया भर में अरबों प्लास्टिक के बैग हर साल फेंके जाते हैं। ये प्लास्टिक बैग नालियों के प्रवाह को रोकते हैं और आगे बढ़ते हुए वे नदियों और महासागरों तक पहुंचते हैं। चूंकि प्लास्टिक स्वाभाविक रूप से विघटित नहीं होता है इसलिए यह प्रतिकूल तरीके से नदियों, महासागरों आदि के जीवन और पर्यावरण को प्रभावित करता है।

771

आयुक्त ने प्राथमिक विद्यालय भिखारीपुर मसड़ी को सुन्दर बनाने में पूरा सहायोग करने के लिए ग्राम प्रधान को सम्मानित किया। एडी बेसिक डा0 मृदुला आनन्द ने इस अवसर पर बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वे नवयुवक अध्यापक अध्यापिका द्वारा विद्यालयों में अब पहले से बेहतर शैक्षिब वातावरण बनाया जा रहा है और बेसिक शिक्षा का स्तर तेजी से सुधर रहा है। उन्होने बच्चों का आहवान किया कि वे सब मन लगाकर पढ़ें। आयुक्त, सीडीओ श्रावस्ती व एडी बेसिक ने छात्र-छात्राओं को पाठ्य पुस्त, यूनीफार्म तथा जूते-मोजे का वितरण किया। इसके बाद आयुक्त रसोई तथा आंगनबाड़ी केन्द्र का भी निरीक्षण किया तथा बच्चों से दी जा रही सुविधाओं के बारे जानकारी ली।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अवनीश कुमार राय, उपजिलाधिकारी इकौना, सहायक निदेशक बेशिक शिक्षा डा0 मृदुला आनन्द, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, खण्ड शिक्षा अधिकारी भारत भूषण जायसवाल, जिला समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन डा0 राज कुमार त्रिपाठी सहित अध्यापक, अध्यापिकाएं एवं भारी संख्या में स्कूली बच्चे उपस्थित रहे।

Loading...