bhim

उत्‍तर प्रदेश के बुलंदशहर में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करते हुए शुक्रवार को कुछ अज्ञात लोगों ने ठाकुरों के घरों के बाहर हाथ से लिखे पर्चे फेंके। जिन पर लिखा था ‘जय भीम ठाकुरों को बोलना ही होगा।’ घटना को लेकर इलाके में काफी तनाव है। पुलिस ने शिकायत दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस अधिकारी ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि करीब ठाकुर समुदाय के दो दर्जन लोग शनिवार सुबह नरसेना पुलिस स्टेशन पहुंचे, जहां उन्होंने शिकायत दर्ज कराई है। ठाकुरों ने आरोप लगाया कि इसमें कहीं ना कहीं कथित तौर पर दलित समुदाय के लोग शामिल हैं। आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी के लिए उन्होंने प्रदर्शन भी किया।

मामला बुलंदशहर के सबदलपुर गांव का बताया जा रहा है। ठाकुर समुदाय के लोगों की शिकायत के बाद दलित समुदाय के लोग भी थाने आ पहुंचे और उन्होंने कहा कि इस घटना में उनका कोई हाथ नहीं है।

नरसेना पुलिस स्टेशन के इंचार्ज अनिल कुमार ने बताया कि हमें दलित और ठाकुर समुदाय के पचास (28 ठाकुर और 22 दलित) लोगों ने लिखित में दिया है कि इस घटना के बाद दोनों समुदाय के लोग आपसी सौहार्द बनाकर रखेंगे। मामले में जांच शुरू कर दी गई है और दोषियों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

वहीं बुलंदशहर के एसएसपी केबी सिंह ने बताया कि यह गंभीर मुद्दा है। हम मामले की जांच कर रहे हैं और जो भी इसके पीछे है उसे पकड़ा जाएगा। इसके अलावा हम उन लोगों के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई करेंगे जो सामाजिक सौहार्द को तोड़ने की कोशिश करेंगे।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें