बुलंदशहर गैंगरेप मामले की सुनवाई करते हुए शुक्रवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट की डबल बेंच ने सीबीआई जांच के आदेश दिए है.

इस मामलें में इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डी.बी. भोसले ने स्वत: संज्ञान लिया था. जिसके बाद चीफ जस्टिस डी.बी. भोसले और जस्टिस यशवन्त वर्मा की डिवीजन बेंच ने पहले 8 अगस्त को मामले की सुनवाई करते हुए बुलन्दशहर एसएसपी से मामले की विवेचना की प्रगति रिपोर्ट तलब की थी. र्ट इस मामले मे सरकार की ओर से अभी तक की जांच से संन्तुष्ट नही हुई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कोर्ट ने कहा कि इसी हाईवे पर मई से जुलाई के बीच चार अन्य रेप की वारदातें हुईं. उन पर सुनवाई के लिए कोर्ट ने 17 अगस्त की तारीख मुकर्रर की जाती है. कोर्ट ने यह भी कहा कि मां-बेटी के साथ गैंग रेप की इस घटना से पहले 7 मई को भी उसी हाईवे पर ऐसी ही एक घटना हुई थी.

इसके साथ ही कोर्ट ने मामले में सख्त रुख अपनाते हुए राज्य सरकार से भी पूछा था कि क्यों न मामले की जांच सीबीआई से करायी जाये. वहीं 10 अगस्त को मामले की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने बगैर हलफनामे के विवेचना रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने पर सख्त नाराजगी जतायी थी.

Loading...