बुलंदशहर:  बुलंदशहर हिंसा मामले में पुलिस ने हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का मोबाइल फोन बरामद करने का बड़ा दावा किया है। यह बरामदगी आरोपी प्रशांत नट के घर से हुई है। आरोपी के घर से पुलिस को 6 और मोबाइल फोन भी मिले हैं।

Loading...

वहीं दूसरी और प्रशांत नट की पत्नी का कहना है कि वह मोबाइल खुद पुलिस उनके घर लेकर आई थी और सर्च वारंट के बहाने प्रशांत के कमरे में वह रख दिया था। प्रशांत की पत्नी ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि रविवार को उनके घर से बरामद हुआ इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को फोन पुलिस टीम ने खुद रखा था, पुलिस उनके घर पर तलाशी करने आई थी।

नट की पत्नी ने कहा, ‘पुलिस हमारे घर आई और बोली की हमारे पास सर्च वारंट है। उन्होंने पूछा कि प्रशांत का कमरा कौनसा है? दो सिपाही अंदर गए और वहां एक फोन ड्रेसिंग टेबल पर रख दिया। जब हमने कहा कि यह हमारा नहीं है तो उन्होंने हमें चुप रहने के लिए कहा। पुलिस अपने साथ फोन लेकर आई थी।’

प्रशांत नट सुबोध कुमार की हत्या का मुख्य आरोपी है, जिसे पुलिस ने 27 दिसंबर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने प्रशांत नट की गिरफ्तारी का वीडियो भी रिलीज किया जिसमें वह इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के साथ झगड़ा करता हुआ नजर आ रहा है।

बता दें कि पिछले साल तीन दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना कोतवाली क्षेत्र में हिंसक भीड़ ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। इसी हिंसक भीड़ को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार काबू करने की कोशिश कर रहे थे, उसी दौरान गोली लगने से उनकी मौत हो गई थी।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें