उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय उलमा काउंसिल ने बहुजन समाज पार्टी के समर्थन का ऐलान किया है. इसी के साथ पार्टी की तरफ से घोषणा की गई की 84 विधानसभा सीटों पर तय किए गए उम्मीदवार अब चुनाव नहीं लड़ेंगे.

बीएसपी महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी के साथ संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने कहा कि काउंसिल ने 84 सीटों के लिए प्रत्याशी तय किए थे लेकिन अब उनमें से कोई भी चुनाव नहीं लड़ेगा. हम पूरी तरह से बीएसपी का समर्थन करेंगे.

काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह को बाबरी का कातिल करार देते हुए कहा कि मुलायम ने पहले कारसेवकों को रिहर्सल कराया और फिर मस्जिद गिरा दी. उन्होंने आगे कहा कि आज दादरी और बाबरी के कातिल एक साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा, 5 सालों में सपा-बीजेपी ने मिलकर दंगे कराए हैं.

मौलाना के साथ मौजूद बसपा महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि बसपा सरकार बनने पर इन मामलों की जांच कराई जाएगी. तीन तलाक के मामले पर मौलाना व बसपा महासचिव ने एक सुर में कहा कि धार्मिक मामलों में दखल की इजाजत किसी को नहीं होनी चाहिए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें