उत्तरप्रदेश पुलिस के एंटी रोमियो अभियान के तहत चचेरे भाई-बहन को प्रताड़ित करने का मामला सामने आया हैं. इस मामले में रिश्वत लेने के आरोप में दो पुलिसकर्मियों को निलंबित भी किया गया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार रामपुर में 26 मार्च को सब इंस्पेक्टर संजीव गिरी और कांस्टेबल विमल ने चचेरे भाई बहन को हिरासत में ले लिया था. पुलिस अधीक्षक केके चौधरी के अनुसार, दोनों की उम्र तकरीबन 18 साल है और जिस समय उन्हें हिरासत में लिया गया, वे हशमतगंज गांव दवाएं खरीदने गए थे.

उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों ने बताया कि उन्होंने दोनों भाई बहनों को एंटी रोमियो अभियान के तहत पकड़ा था और पुलिस थाने में तकरीबन पांच घंटे बिठाए भी रखा. साथ ही उनके रिश्तेदारों के आने और यह बताने के बावजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें नहीं जाने दिया कि वे प्रेमी युगल नहीं बल्कि रिश्तेदार हैं.

पुलिस अधीक्षक के अनुसार, पुलिसकर्मियों ने उनसे कथित तौर पर पांच हजार रूपये की रिश्वत मांगी. रिश्तेदारों ने रिश्वत दे दी और इसका वीडियो भी बना लिया. बाद में परिजनों द्वारा स्थानीय विधायक और मंत्री बलदेव सिंह औलख से संपर्क किया गया और बलदेव ने घटना की पूरी जानकारी एसपी को दी, जिसके बाद भाई बहन छूट सके. अधिकारी ने  बताया कि वीडियो देखने और प्रारंभिक जांच के बाद कल उन्होंने आरोपी उपनिरीक्षक और सिपाही को निलंबित कर दिया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?