amit-shah-rally_1479831242

हल्द्वानी | 22 अक्टूबर से अल्मोड़ा से शुरू हुई , बीजेपी की परिवर्तन यात्रा हल्द्वानी में जाकर समाप्त हुई. आने वाले विधानसभा चुनावो को देखते हुए बीजेपी ने उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में इस यात्रा को आयोजित किया. कई रैलिया आयोजित की गयी. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी इन परिवर्तन रैलियों में सत्ता परिवर्तन की अलख जताते दिखे.

बुधवार को उत्तराखंड के हल्द्वानी में आयोजित परिवर्तन रैली में बोलते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा की परिवर्तन रैली , प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के लिए एक आन्दोलन है. हमारा मकसद केवल सत्ता परिवर्तन नही है बल्कि व्यवस्था परिवर्तन भी है. हम चाहते है की प्रदेश में ऐसी सरकार बने जो पारदर्शी और कानून को मानने वाली जिम्मेदार सरकार हो.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस रैली में अमित शाह ने यह भी जता दिया की बीजेपी प्रदेश में किसी भी मुख्यमंत्री के चेहरे के साथ चुनाव नही लड़ेगी. आगामी चुनावो में बीजेपी , कमल निशान और मोदी के चेहरे के साथ ही चुनावो में उतरेगी. इस रैली में अमित शाह केवल 13 मिनट बोले. इस रैली में उनकी उपस्थिति ही केवल 19 मिनट रही. इसको देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है की अमित शाह प्रदेश नेताओ को सन्देश देना चाहते थे की अब चुनाव में उतरने का समय आ गया है.

इस दौरान अमित शाह ने किसी भी प्रदेश नेता को ज्यादा तवज्जो नही दी. हालाँकि प्रदेश नेताओ ने रैली में अपने समर्थको को अलग अलग रखने का पूरा इन्तजाम किया था लेकिन फिर भी न मंच पर और न मंच के पीछे उन्होंने किसी प्रदेश नेता को तवज्जो नही दी. हालाँकि अमित शाह ने प्रदेश के किसी भी खास मुद्दे को नही उठाया लेकिन उन्होंने कार्यकर्ताओ को परिवर्तन के साथ आक्रोश को जोड़ने की अपील जरुर की.

Loading...