lenin

lenin

त्रिपुरा में 25 सालों तक राज के बाद मिली हार के बाद सीपीएम को अब राज्य में हिंसा का सामना करना पढ़ रहा है. कथित तौर पर सरकार बनने से पहले ही बीजेपी समर्थकों ने सीपीएम की इमारतों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है.

बीजेपी समर्थकों ने बेलोनिया में बुलडोजर की मदद से रूसी क्रांति के नायक व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति को गिरा दिया. मूर्ति गिराने के दौरान लोग भारत माता की जय के नारे भी लगाए गए. इस बात की पुष्टि एसपी कमल चक्रवर्ती ने की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चक्रवर्ती के मुताबिक सोमवार को दोपहर 3.30 बजे के करीब बीजेपी समर्थकों ने इसे अंजाम दिया. पुलिस ने जेसीबी चालक को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि बीजेपी ने पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि वामपंथी शासन में दमन के शिकार लोगों ने मूर्ति को ढहाया.

मूर्ति ढहाने की योजना तैयार करने के लगे आरोपों पर बीजेपी नेता राजू नाथ ने कहा कि टैक्सपेयर्स के पैसे से विदेशी लेनिन की मूर्ति क्यों म्यूनिसिपॉलिटी ने लगाई थी? अगर सीपीएम के पूर्व मुख्यमंत्री नृपेन चक्रबर्ती की मूर्ति होती तो कोई उसे छूता भी नहीं.

इस बारें में सीपीआईएम नेता तापसस दत्ता ने कहा, प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मूर्ति गिराने के बाद उसे तोड़ना शुरू किया. उन्होंने लेनिन के सिर से फुटबाल की तरह खेलना शुरू किया.” साथ ही सीपीएम ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर दफ्तरों पर हमला करने का भी आरोप लगाया. सीपीएम का दावा है कि अब तक दो सौ से ज्यादा हिंसा की घटनाएं हो चुकी हैं.

Loading...