महाराष्ट्र के जलगांव में आपस में भिड़े बीजेपी-शिवसेना नेता, जम कर चले लात घूंसे

महाराष्ट्र में भाजपा (BJP) की एक रैली में बीजेपी और शिवसेना के नेता आपस में भिड़ गए। नेताओं के बीच मारपीट का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब तेजी से वायरल हो रहा है।

रैली के दौरान जब मारपीट की यह घटना हुई तो महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन, कई भाजपा नेताओं सहित स्मिता वाघ, उनके पति और पार्टी के जिला अध्यक्ष उदय वाघ, बीएस पाटिल मंच पर मौजूद थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक पूर्व विधायक बीएस पाटिल और मौजूद सांसद एटी पाटिल ने स्मिता वाघ के खिलाफ प्रचार किया था और चाहते थे कि वाघ को लोकसभा चुनाव के लिए टिकट न मिले।

बुधवार को उदय वाघ और उनके समर्थकों ने बुधवार को अपना नियंत्रण खो दिया और बीएस पाटिल पर वाघ का टिकट कटवाने का आरोप लगाने लगे। मंत्री महाजन को मामले को शांत कराने के लिए दखल देना पड़ा। हालांकि लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी नेताओं की आपसी सिर्फ बोल का यह वीडियो महाराष्ट्र लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के लिए बड़ी मुसीबत बन गया।

भाजपा सूत्र ने बताया कि वाघ को बदलने को फैसला तब किया गया जब पार्टी को लगा कि पाटिल के राकांपा उम्मीदवार गुलाबराव पाटिल को हराने के अवसर अधिक । उन्होंने कहा कि शिवसेना के कुछ कार्यकर्ता भी वाघ की उम्मीदवारी से अप्रसन्न थे।

इससे पहले भी ऐसा ही वाकया यूपी में भी हुआ था। उत्तर प्रदेश के संत कबीरनगर में भाजपा सांसद और भाजपा विधायक आपस में भिड़े थे। दोनों की बहस इतनी ज्यादा बढ़ गई कि भाजपा सांसद ने विधायक को जूता उठाकर मार दिया। सांसद ने विधायक पर लगातार कई जूते बरसाए। जिसके बाद यहां मौजूद पुलिस बल ने बीच बचाव किया और दोनों नेताओं को एक दूसरे से अलग कर दिया। इस मारपीट का वीडियो खूब वायरल हुआ था।

विज्ञापन