modi

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की 131 प्रत्याशियों की जारी पहली सूची में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया गया है। इस दौरान बीजेपी के वरिष्ठ नेता और नागौर के विधायक हबीबुर्रहमान का भी टिकट काट दिया गया।

सूची में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार का नाम नहीं होने पर पार्टी में बवाल मच चुका है। पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष सादिक खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पत्र लिखकर पूछा है कि अब हम किस मुंह से समाज में भाजपा के लिए वोट मांगें।

सादिक खान ने पार्टी आलाकमान को लिखे पत्र में यह भी कहा है कि राजस्थान में हिंदू- मुस्लिम का भेद नहीं है। यहां गुजरात या उत्तर प्रदेश जैसे हालात भी नहीं हैं। जयपुर का जवाहरात व्यवसाय इसका उदाहरण है। पिछले चुनाव में पार्टी ने चार टिकट मुस्लिम समुदाय को दिए थे, जबकि इस बार एक भी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

india muslim 690 020918052654

सादिक खान ने कहा है कि वह पार्टी में रहकर अपनी बात उठाएंगे और पार्टी नेताओं को मजबूर करेंगे कि वह अपनी नीतियों में बदलाव करें। गौरतलब है कि भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा ने इस बार 14 सीटों से अल्पसंख्यक प्रत्याशियों को टिकट देने की मांग की थी।

दूसरी और टिकट काटे जाने से नाराज मुस्लिम विधायक हबीबुर्रहमान ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इसके अलावा भाजपा ने राजस्थान में दूसरे मुस्लिम चेहरे और परिवहन मंत्री युनूस खान का टिकट भी अभी तक घोषित नहीं किया है। हालांकि माना जा रहा है कि उन्हे भी टिकट नहीं मिलेगा।

Loading...