सबका साथ-सबका विकास का दावा करने वाली भारतीय जनता पार्टी धार्मिक तुष्टिकरण की नीति अपनाते हुए पश्चिम बंगाल के आगामी निकाय चुनाव में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकिट नहीं देगी.

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष अली हुसैन ने पीटीआई भाषा को बताया, हमने पांसकुरा नगरपालिका में दो अल्पसंख्यक प्रत्याशियों को उतारने का निर्णय लिया था. लेकिन तृणमूल कांग्रेस की धमकी के बाद उन्होंने अपना नामांकन वापस ले लिया. ऐसे में हमने नगरपालिका चुनाव में एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को नहीं उतारने का निर्णय लिया है क्योंकि नगर निगम के अधिकांश वार्डों में मुस्लिमों की ज्यादा आबादी नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तृणमूल कांग्रेस के धमकाने के आरोप को नकारते हुये तृणमूल कांग्रेस के नेता सुवेन्दु अधिकारी ने इसे बिल्कुल निराधार करार दिया. राज्य की सात नगरपालिकाओं के लिए मतदान 13 अगस्त को होगा जबकि नतीजों का एलान 17 अगस्त को किया जाएगा.

हालांकि बीजेपी के लिए इस तरह का फैसला कोई नया नहीं है. इसी फार्मूले को अपनाते हुए बीजेपी को यूपी विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत मिली थी.