preeकेन्द्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) ने सांसद प्रीतम मुंडे के वैद्यनाथ कॉपरेटिव बैंक को ब्लैक मनी को व्हाइट मनी में बदलने के आरोप में राडार पर लिया है. इस मामलें में  सीबीआई ने दो बड़े डॉक्टरों के खिलाफ भी केस दर्ज किया है.

सीबीआई ने मुंबई के बड़े डॉक्टर सुरेश आडवाणी और औरंगाबाद के बड़े हॉस्पिटल सिगमा हॉस्पिटल के मालिक डॉ. उमेश टाकलकर के खिलाफ केस दर्ज किया है. सीबीआई के मुताबिक ये डॉक्टर अपने कालेधन को वैद्यनाथ कोऑपरेटिव बैंक में सफेद करते थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल पिछले दिनों मुंबई के एक इलाके में एक कार से 10 करोड़ 10 लाख रुपए की बरामदगी हुई थी. ये पैसा बीजेपी के दिग्गज नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी प्रीतम मुंडे का निकला था. प्रीतम मुंडे महाराष्ट्र की बीड लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद हैं और वैद्यनाथ को आपरेटिव बैंक की संचालिका भी हैं. आयकर विभाग की शुरुआती जांच में पता चला कि पूरी रकम ब्लैकमनी है.

महाराष्ट्र सरकार में ग्रामीण विकास और महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे भी इस बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में हैं. उन्होंने कहा कि बैंक ने कुछ भी गलत नहीं किया है.

Loading...