yogi 650x400 41514689208

देश में शहरों और रास्तों के नाम बदले जाने के चलन के बीच उत्तर प्रदेश के हरदोई स्थित मुगल बादशाह बाबर के नाम वाले गांव का नाम बदलने की कोशिश के विरोध मे गांव की हिन्दू बहुल जनता ही आ गई।

जिले की सवायजपुर सीट से भाजपा विधायक माधवेंद्र प्रताप सिंह रानू भरखरनी ब्लॉक के गांव बाबरपुर का नाम बदलकर ब्रह्मपुर करने की कोशिश मे लगे हुए है। उन्होंने इससे संबंधित प्रस्ताव भी सरकार को भेज दिया है। लेकिन इस बारे में बुलाई गई बैठक में गांव वाले इस प्रस्ताव के खिलाफ दिखे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस गांव के बुजुर्गों का कहना है कि मुगल शासक बाबर के सेनापति ने अपने बादशाह के नाम पर इस गांव का नामकरण किया था। साथ ही, ग्रामीणों का कहना है कि उनके सभी दस्तावेजों में गांव का नाम बाबरपुर ही दर्ज है। यदि इसे बदल दिया गया तो उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

बताया जाता है कि बाबरपुर नाम के इस गांव में एक भी मुसलमान परिवार नहीं है। इसके बाद भी गांव वालों ने अपने विधायक के इस प्रस्ताव का विरोध किया है। लोग इस बात से भी नाराज दिखे कि विधायक ने गांव में विकास कार्य नहीं करवाए। लेकिन नाम बदलकर सियासत जरूर करना चाहते हैं।

बता दे कि इससे पहले योगी सरकार ने मुगल सराय जक्शन का नाम बदल कर पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन के नाम पर रख दिया।

Loading...