usha

मध्य प्रदेश के इंदौर कलेक्ट्रेट में मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान एक महिला केरोसिन और माचिस लेकर पहुंच गई। हालांकि एक होमगार्ड्स की नजर पड़ जाने के कारण महिला अपने मकसद मे कामयाब नहीं हो पाई।

जानकारी के अनुसार, महिला कलेक्टर के सामने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा लेना चाहती थी। लेकिन पहले ही मौके पर खड़े होमगार्ड्स ने शंका होने पर महिला की थैली देखी और बाॅटल जब्त कर ली।

अपर कलेक्टर ने महिला की बात सुनी तो उन्होंने रोते हुए कहा कि स्थानीय बीजेपी विधायक ऊषा ठाकुर ने इसके लिए उकसाया था। उन्होंने समस्या दूर करने की जगह कहा था कि कलेक्ट्रेट में कलेक्टर के सामने आग लगा लेना तो सुनवाई हो जाएगी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bjp2 kvwe 621x414@livemint

घटना के बाद अपर कलेक्टर कैलाश वानखेड़े ने कहा कि महिला की शिकायत दूर करने की कार्रवाई की जाएगी। रामबाग निवासी लीलाबाई गौड़ ने बताया कि मेरे घर के सामने रास्ता बंद है। घर में न बिजली है और न ही पानी। समस्याएं सुनाते-सुनाते थक गई हूं, कोई सुनने को तैयार नहीं है।

इस मामले में ‌विधायक ठाकुर ने अपने ऊपर लगे आरोपों को कांग्रेस की साजिश बताया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेसियों ने महिला को यह सब बातें सिखाईं थीं। ताकि उन्हें फंसाया जा सके। जब मेरी पार्टी की सरकार है तो हर समस्या निराकरण करा सकती हूं, किसी को आग लगाने की सलाह क्यों दूंगी।

Loading...