djms

यूपी में भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने डीआईओएस के साथ हाथापाई की। इस दौरान डीएम समेत अन्य अधिकारी भी मौजूद थे। अफरा-तफरी और हंगामे के बीच किसी तरह डीएम ने डीआईओएस को सभागार से बाहर निकाला।

दरअसल भाजपा सांसद ने एक मीटिंग जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में बुलाई थी, जिसमें जिले के आला अधिकारियों के साथ ही भाजपा विधायक और भाजपा के पदाधिकारी भी मौजूद थे तभी भाजपा जिलाध्यक्ष विनोद शंकर डूबे ने डीआईओएस  नरेन्द्र देव पांडे पर ज़ुबानी हमला बोल दिया और देखते ही देखते भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह और उनके समर्थकों ने जिला विद्यालय निरीक्षक से मारपीट शुरू कर दी।

डीएम समेत अन्य अधिकारियों ने बीच बचाव कर मामले को शांत कराया। इसके बाद बैठक बीच में रोक दी गई। डीएम डीआईओएस को अपनी गाड़ी में बिठाकर आवास पर चले गए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

sure

जिलाधिकारी भवानी सिंह खगरौत का कहना है कि कई राजनीतिक लोग अपने फायदे के लिए अधिकारी पर गलत दबाव बना रहे है जो गलत है। इस प्रकरण में भी जांच कर पूरी रिपोर्ट से शासन को अवगत कराया जाएगा। हालांकि अब भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने बाद में डीआईओएस से हाथ जोड़कर माफी मांगी।

बता दें कि अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में रहने  वाले बलिया के बैरिया विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह अपनी असंसदीय भाषा के लिए चर्चा में रहते हैं। इससे पहले उन्होंने कहा था कि अधिकारियों से बेहतर तो वेश्याएं हैं, जो पैसे लेकर काम तो करती हैं। अधिकारी पैसे लेकर भी काम करेगा कि नहीं इसकी कोई गारंटी नहीं है।

Loading...