राजस्थान विधानसभा में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी यानि चपरासी की नौकरी को बीजेपी विधायक जगदीश नारायण मीणा के दसवी पास बेटे को मिलने पर सवाल उठाना शुरू हो गए है.

दरअसल इस नौकरी के लिए एमबीए, बी.टेक अभ्यर्थियों ने भी अप्लाई किया था. चपरासी के 18 पदों पर विधानसभा में 18 हजार से अधिक उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था. जिसमे उच्च शिक्षा प्राप्त उम्मीदवार भी शामिल हुए थे.

हालाँकि बीजेपी विधायक जगदीश नारायण मीणा का कहना है कि उनका बेटा रामकृष्ण अपनी मेहनत के दम पर सलेक्ट हुआ है. उन्होंने यह भी कहा कि यह फर्क नहीं पड़ता की उसका चयन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के लिए हुआ है, क्यों कि कोई नौकरी छोटी या बड़ी नहीं होती.

कुल 18 पदों पर हुई भर्ती के परिणाम में रामकृष्ण का नंबर चयनितों की सूची में 12वें नंबर पर आया है. बीजेपी विधायक के परिवार में रामकृष्ण की दसवी पास है.

रामकृष्ण ने पिछले साल ही 10वीं कक्षा की पढ़ाई प्राइवेट पास की है. वह फिलहाल पढ़ाई छोड़ कर परिवार के साथ खेती में हाथ बंटाता है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें