mauvin godinhomauvin

mauvin godinhomauvin

गौरक्षा के नाम पर एक तरफ बीजेपी शासित राज्यों में भगवा अतिवादी अल्पसंख्यकों की जान लेने में भी नहीं हिचक रहे है. वहीँ गोवा के बीजेपी शासित पर्रिकर सरकार में गोमांस को खाने और खिलाने में कोई कमी नही है. इस बात की जानकारी शुक्रवार को गोवा के पशुपालन मंत्री मॉविन गोडिन्हो ने दी.

गोडिन्हो ने बताया कि गोवा का एकमात्र वैध बूचड़खाना गोवा मीट कॉम्प्लेक्स पड़ोसी राज्यों में मवेशियों के परिवहन की इजाजत के मुद्दे की वजह से पर्याप्त संख्या में मवेशियों का वध करने में सक्षम नहीं हो पा रहा है. हालांकि उन्होंने कहा, कमी की कोई सूचना नहीं है.

दरअसल, विपक्षी कांग्रेस पार्टी ने सवाल किया था कि नियमित व पर्याप्त मात्रा में गोमांस की आपूर्ति सरकार द्वारा सुनिश्चित की गई है या नहीं. जिसके लिखित जवाब में गोडिन्हो ने कहा कि ‘कमी की कोई सूचना नहीं है.’

गोडिन्हो ने कहा, “गोवा मीट कांप्लेक्स पूरी तरह से कार्य कर रहा है. हालांकि, वर्तमान में व्यापारी मवेशियों को वध के लिए लाने में असमर्थ हैं, क्योंकि उन्हें राज्य के बाहर से मवेशियों को लाने के लिए ट्रांसपोर्ट परमिट सर्टिफिकेट नहीं मिल पा रहा है.

उन्होंने कहा कि औसतन 22 मवेशियों का हर रोज वध किया जा रहा है, जबकि बूचड़खाने की क्षमता प्रति शिफ्ट 120 मवेशियों के वध करने की है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें