blood

गुजरात के जूनागढ़ में स्थित सर्वोदय ब्लड बैंक की लापरवाही के कारण 36 बच्चों की जिंदगी को तिल-तिल मरने के कगार पर पहुंचा दिया हैं. यह ब्लड बैंक बीजेपी के एमएलए महेंद्र मशरू का हैं. इन 36 बच्चों में से पिछले 5 साल में 6 बच्चों की मौत हो चुकी है.

पिछले 6 सालों से ये 30 बच्चें तड़प-तड़प कर अपनी जिंदगी जी रहे हैं. इनमें 16 लड़के और 14 लड़कियां हैं. जब इन्हें HIV पॉजिटिव ब्लड चढ़ाया गया था इनकी उम्र 2 से 12 वर्ष के बीच थी लेकिन अब ये 7 से लेकर 17 वर्ष के हो गए हैं.

इन बच्चों को रोज 9 गोलियां खानी पड़ती हैं. और हर 15 दिन में खून चढ़ाने के लिए शहर जाना पड़ता है. बच्चों के चेहरे बिगड़ गए हैं. वजन कम हो गया है. सर्दी-खांसी जैसी सामान्य बीमारी तक जल्दी ठीक नहीं होती.

बच्चों के परिजन भी बच्चों को रोज तड़पता हुआ देखकर हिम्मत हार चुके हैं. बच्चों को तड़प को देखकर वो कहते हैं कि रोज-रोज मरने से तो अच्छा है कि भगवान उन्हें उठा ले. अब हम हिम्मत हार चुके हैं.

3 साल के रवीन्द्र के पिता कहते हैं- जिन 6 बच्चों की मौत हो गई, उन्हें मुक्ति मिली। उनका परिवार भी इस दुख से छूटा. एचआईवी ग्रस्त होने के बाद कई बच्चों के पूरे परिवार बर्बाद हो गए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें