hhh

पीलीभीत में भाजपा शहर विधायक मंजू त्यागी ने एक मामले में उनकी न सुनने पर फूलबेहड़ के थाना प्रभारी विद्या सागर दिवाकर को जूते से मारने की धमकी दी है। इतना ही नहीं पीड़ित इंस्पेक्टर को भी लाइन हाजिर कर दिया गया।

पूरी बातचीत का ऑडियो जब इन्स्पेक्टर ने वायरल करना शुरू कर दिया तो विधायक मंजू त्यागी और एसपी रामलाल वर्मा की परेशानी बढ़ गई। लाइन हाजिर करने पर एसपी ने कहा, ‘वर्क ऐंड कंडक्ट रूल होता है, इसके बाहर नहीं जा सकते। कंडक्ट रूल के अंतर्गत आप एक शिकायत देते, क्लिप देते उसकी जांच के आधार पर कार्रवाई की जाती। हालांकि, आपने ऑडियो वायरल कर दिया, जिसकी वजह से आपने कंडक्ट रूल का उल्लंघन किया। इस आधार पर लाइन हाजिर किया गया।’

क्या बीजेपी विधायिका मंजू त्यागी के खिलाफ भी ऐक्शन लिया जाएगा? इस पर उन्होंने कहा, ‘मामले की जांच की जाएगी, उसी आधार पर कार्रवाई होगी।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मंजू त्यागी, बीजेपी विधायक: कहां हो?
इन्स्पेक्टर: तफ्तीश करने आया था
विधायक: यह कह रहे थे कि बसहा और राजापुर का जो मैटर है वह बूढ़ा वाला, तुम जानते नहीं होगे अभी कह दो कि हमको पता नहीं
इन्स्पेक्टर: राजापुर वाला
विधायक: राजापुर और बसहा वाला
इन्स्पेक्टर: सिसैया का
विधायक: विश्वराज जी है जिसमें इन्वॉल्व
इन्स्पेक्टर: सिसैया वाला
विधायक: हां
इन्स्पेक्टर: सिसैयावाला, जिसमें आज संजय आए थे वह तो नहीं हैं, महिला का जो झगड़ा हुआ था
विधायक: तुम पागल के पागल ही रहोगे क्या, यहीं से जूता निकालकर चलाएं क्या, तुम हमसे पूछते रहते हो कि ये कौन सा मैटर है, तुम क्या करते हो
इन्स्पेक्टर: आपने शब्द क्या कहा है मुझसे पहले यह बता दो
विधायक: दिवाकर तुम क्यों नहीं समझते हो
इन्स्पेक्टर: मैं आपसे उम्र में कितना बड़ा हूं
विधायक: बड़े हो तो कुछ मालूम नहीं होगा क्या
इन्स्पेक्टर: आप अपनी भाषा सही करो, मैं ऐसी नौकरी नहीं करना चाहता, आप अभी हटवा दो मैं हट जाऊंगा

इस बातचीत के बाद विधायक मंजू त्यागी का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद उन्होंने इन्स्पेक्टर दिवाकर से फोन पर कहा, ‘यह बताओ तुम हमारी बेइज्जती कराके सही रह पाओगे।’ इस पर इन्स्पेक्टर ने कहा कि 29 साल की नौकरी हो गई है। मैं ऐसी नौकरी कभी नहीं करता हूं।’

विधायक: 29 साल में तुम कर क्या रहे थे, यह बताओ
इन्स्पेक्टर: यह शब्द मेरे पिता ने भी नहीं कहा होगा, मैं ऐसी नौकरी नहीं करता
विधायक: नौकरी नहीं करते तो क्या करते हो, मेरी सरकार की बेइज्जती न कराओ
इन्स्पेक्टर: अगर आप हटेंगी तो मैं हाई कोर्ट जाऊंगा, आप मेरी बच्ची के बराबर हो, इस तरह से बातचीत करेंगी मुझसे
विधायक: बच्ची के बराबर हैं तो यह नहीं है कि सरकार की बेइज्जती कराओगे
इन्स्पेक्टर: आप मुझसे सीधे कहतीं कि विश्वराज वाला मैटर निपटाओ
विधायक: मैंने कहा विश्वराज वाला तो तुमने कहा कौन सा विश्वराज वाला…

इस पूरी बातचीत में इन्स्पेक्टर ने आगे कहा, ‘दो पैसे की पब्लिक के सामने इस तरह से बात करेंगी मुझसे आप।’ विधायक ने कहा, ‘मैं पब्लिक को कह रही हूं कुछ तो तुम अपने ऊपर क्यों ला रहे हो।’ इस पर इन्स्पेक्टर ने कहा, ‘आपने मेरे लिए कहा है, मेरे पास रिकॉर्ड है सबकुछ।’ ऑडियो क्लिप के मुताबिक, मंजू त्यागी ने कहा, ‘मैं किसी को कह रही हूं तो रिकॉर्डिंग की धमकी मुझे मत दो।’ विधायिका ने कहा, ‘मैं अगर खड़ी हो जाऊं तो विधानसभा का 51 फीसदी आदमी मेरे साथ खड़ा होगा। हमको समझाकर नहीं रह पाओगे…तुम्हें सरकार का काम करना है, सरकार के नीचे रहना है।’ जवाब में इन्स्पेक्टर ने कहा, ‘सरकार का जो काम जायज होगा वही हो पाएगा।’

Loading...