Sunday, October 24, 2021

 

 

 

पुलिस पेपर लीक मामले में बीजेपी नेता ने किया आत्मसमर्पण, पार्टी ने किया निष्कासित

- Advertisement -
- Advertisement -

असम पुलिस ने पुलिस भर्ती परीक्षा से जुड़े प्रश्न पत्र के लीक होने के मामले में, सत्तारूढ़ भाजपा के एक नेता दीबान डेका ने पुलिस को आत्मसमर्पण कर दिया है। उन्हें हिरासत में लेने के बाद पार्टी ने भी उन्हें निष्कासित कर दिया। पुलिस ने डेका पर एक लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि डेका और पूर्व डीआईजी पीके दत्ता घोटाले के सामने आने के बाद से ही फरार थे। उन्होंने बुधवार रात पथचारकुच्ची इलाके में आत्मसमर्पण कर दिया, इसके तुरंत बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया। पुलिस ने इससे पहले दोनों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था।

बता दें कि असम पुलिस में उपनिरीक्षकों के 597 पदों की लिखित परीक्षा का प्रश्न पत्र 20 सितंबर को लीक हो गया था और परीक्षा शुरू होने के कुछ मिनट के अंदर ही इसे रद्द कर दिया गया था। राज्य भर में 154 केंद्रों पर करीब 66 हजार उम्मीदवार परीक्षा में बैठे थे।

अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के लिए उन्हें गुवाहाटी लाया गया है। डेका को कामरूप के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, जहां से उन्हें गुवाहाटी नगर पुलिस की अपराध शाखा की हिरासत में पांच दिनों के लिए भेज दिया गया।

वहीं भाजपा के एक प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई ने गिरफ्तारी के बाद तत्काल प्रभाव से उन्हें निष्कासित कर दिया। डेका ने फेसबुक पर खुद की पहचान भाजपा किसान मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य के रूप में बताई है और उन्होंने 2011 का असम विधानसभा चुनाव भाजपा उम्मीदवार के तौर पर लड़ा था।

कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई (Gaurav Gogoi) ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को पत्र लिखकर असम (Aaasam)पुलिस परीक्षा पेपर लीक के मामले की जांच सीबीआई (CBI) से कराने की मांग की है।

कांग्रेस सांसद ने कहा, “मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि कृपया इस मामले में हस्तक्षेप करें और सीबीआई जांच का आदेश दें ताकि हमारी प्रशासनिक सेवाएं भ्रष्टाचार से मुक्त हो सकें और गंभीर अभ्यर्थी भविष्य में इस प्रकार की साजिशों का शिकार न हों।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles