guj11

guj11

गुजरात विधानसभा चुनाव में अजीबोगरीब माहौल दिखने को मिल रहा है. साम्प्रदायिकता के जरिए चुनाव लड़ने वालों  ने अज़ान को डर का पर्याय बना दिया है. वहीँ दूसरी और ऐसे भी नेता है जो अज़ान को आशीर्वाद मानते है.

खड़िया जमालपुर में आयोजित सद्धभावना सभा के संबोधन के दौरान भाजपा नेता और पूर्व मंत्री गिरीशर परमार ने अज़ान होने की वजह से अपने भाषण को बीच में रोक दिया. अज़ान पूरी होंने के बाद उन्होंने अज़ान को एक आशीर्वाद के रूपमें बताया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत अस्लाम अलैयकुम कहकर की. परमार ने कहा कि लोगों का नजरिया अब भाजपा के प्रति बदल रहा है, उन्होंने कहा कि भाजपा सबका साथ सबका विकास में यकीन रखती है. जिस विधान सभा में भाजपा नेता यह संबोधन कर रहे थे वहां पिछली बार हुऐ विधानसभा चुनाव में भाजपा हार गई थी.

गौरतलब रहे कि हाल ही में अज़ान को लेकर एक वीडियो जारी हुआ है. जिसमे  एक लड़की को घबराई हुई हालत में कही जाते हुए दिखाया गया है. पीछे से अजान की आवाज़ आ रही है. उधर लड़की के माँ-बाप घर पर बड़ी बेचैनी से उसका इंतज़ार कर रहे है. घर में भगवान कृष्णा की तस्वीर लगी है. लड़की जैसे ही घर पहुँचती है तो उसके माँ बाप उसे गले लगा लेते है.
इसके बाद लड़की की माँ कैमरे की तरफ़ घूमकर कहती है,’ एक मिनट, आप लोग गुजरात में ऐसा होता देखकर हैरान क्‍यों हो?’ इसके बाद लड़की का पिता कहता है, ’22 साल पहले, ऐसा हुआ करता था. और ऐसा फिर हो सकता है अगर वो लोग आए तो.’ फिर लड़की बोलती है, ‘परेशान मत हो। कोई नहीं आएगा. क्‍योंकि यहां मोदी है.’
Loading...