sobha surendran 620x400

केरल उच्च न्यायालय ने भाजपा नेता शोभा सुरेंद्रन की याचिका को मंगलवार को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि यह याचिका अदालती प्रक्रिया के “दुरुपयोग” और “सस्ती लोकप्रियता” के लिए दायर की गई थी। साथ ही अदालत ने उन पर 25,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया।

बता दें कि अपनी याचिका में सुरेंद्रन ने आरोप लगाया था कि केरल पुलिस ने सबरीमाला में भक्तों को परेशान किया था। हालांकि अदालत ने सुनवाई के दौरान पाया कि उनके द्वारा पेश किये गये तथ्य आधारहीन है। वह केवल मामले को बढ़ाना चाह रहे हैं।

अदालत की फटकार के बाद सुरेंद्रन के वकील ने याचिका वापस ले ली। इसके बाद निराधार आरोपों के साथ अदालत का समय बर्बाद करने के लिए कोर्ट ने उन्हें केरल के कानूनी सेवा प्राधिकरण को 25 हजार रुपये का भुगतान करने का आदेश दिया।

kerala high court 650x400 41513580001

मुख्य न्यायाधीश ऋषिकेश रॉय और न्यायमूर्ति ए के जयशंकरण नांबियार की खंड पीठ ने उनकी जनहित याचिका को “शरारतपूर्ण’” करार दिया। कोर्ट ने सुंदरन के वकील से यह भी पूछा कि यह याचिका कहीं पब्लिसिटी स्टंट के लिए तो नहीं डाली गई थी?

कोर्ट ने इसके बाद हिदायत देते हुए कहा कि लोगों को इस तरह के घटिया प्रचार के लिए कोर्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। बेंच के सख्त रवैये के बाद सुंदरन के वकील ने याचिका वापस लेने की इच्छा जाहिर की। कोर्ट ने उस पर मंजूरी देने के साथ 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें