बच्चों की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हुई पश्चिम बंगाल की भाजपा महिला मोरचा की नेता जूही चौधरी के बारें में बड़ा खुलासा हुआ हैं. जूही चौधरी गिरफ्तारी से पहले तक 17 बच्चों की तस्करी कर चुकी थी. जूही को 12 दिन की सीआईडी रिमांड में भेज दिया गया है. उसे भारत-नेपाल सीमा से गिरफ्तार किया गया था.

पिछले दो महीने में सीआईडी ने बाल तस्करी के आरोप में कई लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें नॉर्थ बंगाल के एक स्कूल की प्रधानाध्यापिका चंदना चक्रबर्ती भी शामिल हैं. जो जूही चौधरी बीजेपी नेता की सहयोगी हैं. सीआईडी जूही के मोबाइल से हुई बातचीत का ब्यौरा खंगाल रही हैं.

सीआईडी ने गत 18 फरवरी को बिमला शिशु गृह में बच्चों की खरीद-फरोख्त को लेकर शिशु गृह की संचालिका चंदना चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया था. चंदना चक्रवर्ती ने ही जूही चौधरी के बारें में खुलासा किया था. जिसके बाद जूही चौधरी की गिरफ्तारी हुई हैं. चंदना चक्रवर्ती ने बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और बीजेपी सांसद रूपा गांगुली का भी नाम लिया हैं.

आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) के अतिरिक्त महानिदेशक राजेश कुमार ने बताया कि कड़ी सुरक्षा के बीच चौधरी को सिलीगुड़ी में मुख्य न्यायिक न्यायाधीश की अदालत के समक्ष पेश किया गया. चौधरी को 12 दिनों की सीआईडी की हिरासत में भेजा गया है. उन्होंने दावा किया कि नवजातों की तस्करी में उनका सीधा हाथ है. जलपाईगुड़ी जिले के इस मामले में यह चौथी गिरफ्तारी है.

पुलिस ने एक डायरी भी बरामद की है, जिसमें जूही चौधरी का बाल तस्करों और सहआरोपी मानस भौमिक से संबंधों के बारे में विवरण दर्ज है, मानस को इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किया गया था. डायरी के मुताबिक, चौधरी बीते दो फरवरी को मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती के साथ दिल्ली गईं और बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय से मुलकाता की थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें