ठेकेदार से कमीशन मांगने के ऑडियो वायरल होने पर सुर्खियों में आए सागर नगर निगम के महापौर अभय दरे के सभी अधिकार छिन लिए गए हैं. उनका रिश्वत मांगने वाला ऑडियो जांच में सही पाया गया हैं.

राज्य का यह पहला मामला है, जिसमें किसी महापौर के अधिकार छीने गए हैं. शुक्रवार की देर शाम महापौर के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने केस दर्ज कर लिया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के शनिवार को सागर आगमन से ठीक एक दिन पहले ये कारवाई की गई हैं.

ज्ञात हो कि पिछले दिनों सागर महापौर दरे और ठेकेदार संतोष प्रजापति के बीच हुई बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इस ऑडियो में दरे को ठेकेदार के बीच कमीशन को लेकर बातचीत थी.  इस मामले के तूल पकड़ने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले को संज्ञान में लेते हुए नगरीय प्रशासन विभाग के आयुक्त विवेक अग्रवाल को जांच का जिम्मा सौंपा था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विवेक अग्रवाल ने एक दिन पहले गुस्र्वार को महापौर दरे, निगमायुक्त कौशलेंद्र सिंह और निगम के ठेकेदार संतोष प्रजापति को बयानों के लिए भोपाल तलब किया था. देर रात तक तीनों के बयान लिए गए थे. इसके बाद 12 घंटे के भीतर शुक्रवार की सुबह महापौर के वित्तीय और प्रशासनिक अधिकार छीनने का आदेश जारी कर दिया गया.

Loading...