kal

डग विधानसभा में हाल ही में निर्वाचित हुए बीजेपी के विधायक कालूराम मेघवाल के निवास स्थल गांव उमरिया में गैस कनेक्शन नहीं है। उनका परिवार अब भी खाना लकड़ी से जलने वाले चूल्हे पर ही बना रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या मोदी सरकार अपने ही कार्यकर्ता को भी उज्ज्वला योजना में गैस कनेक्शन तक उपलब्ध नहीं करा पाई।

दरअसल, इस बात का खुलासा उस वक्त हुआ जब मीडिया जीत के बाद भाजपा प्रत्याशी कालूराम मेघवाल के निवास स्थल पर पहुंचा। इस दौरान  मेघवाल की धर्मपत्नी जो गृहिणी है। घर में लकड़ी से जलने वाले चूल्हे पर खाना बना रही थी।उन्होंने बताया कि घर में आज भी रसोई गैस कनेक्शन नहीं है। घर के सभी सदस्यों का खाना लकड़ी से जलने वाले चूल्हे पर ही बनाया जाता है।

Loading...

ujj

इस बारे में विधायक के भाई रामलाल मेघवाल ने पत्रिका को बताया कि घर में उज्जवला योजना और न ही कोई साधारण गैस कनेक्शन है। मैं डग में रहता हूं। जहां मेरे नाम से एक कनेक्शन लिया हुआ है। वहीं गांव में खेतीबाड़ी से जलाने की लकड़ी की व्यवस्था हो जाती है, इसलिए कभी गैस कनेक्शन की ओर ध्यान ही नहीं दिया।

बीजेपी विधायक की पत्नी की तस्वीर अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। सभी एक ही सवाल कर रहे है कि खुद की सरकार में गैस कनेक्शन नहीं मिला तो क्या हुआ काश अब कॉंग्रेस की सरकार में मिल जाए। बता दें कि डग विधानसभा से बीजेपी ने कालुराम को पूर्व विधायक रामचन्द्र सुनारीवाल का टिकट काटकर उम्मीदवार बनाया था।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें