महागठबंधन के टूटने के बाद राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू यादव द्वारा ‘भाजपा भगाओ देश बचाओ’ शुरू किया गया है. जिसके जरिए उन्होंने न केवल विपक्ष को एकजुट किया बल्कि बड़े पैमाने पर अपने समर्थकों के जरिए शक्ति प्रदर्शन करने में भी कामयाब रहे.

पटना के गांधी मैदान में विपक्ष के तमाम दिग्‍गज नेताओं के साथ-साथ लाखों की संख्या में लोग शामिल हुए. साथ ही जेडीयू के सांसद शरद यादव और अली अनवर भी इस रैली में पहुंचे. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी इसमें हिस्सा लिया. हालांकि, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस रैली में शामिल नहीं हुए. लेकिन पार्टी की ओर से वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और सीपी जोशी लालू की रैली में शिरकत करने के लिए पहुंचे.

पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बाढ़ के कारण बिहार और बंगाल दोनों जगह बाढ़ है। हम काफी दुखी है. जितना लोग मैदान में है, उससे अधिक सड़क पर भी लोग हैं. मैंने देखा कि आप लोग आये और चले गये, ऐसा नहीं है. सभी लोग मैदान में मौजूद हैं. आपलोगों ने दिल से मीटिंग को लिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तेजप्रताप यादव ने कहा कि हमारे पिता ने नीतीश कुमार जी का नाम पलटू राम रखा रखा है और सुशील मोदी जो आ के सलटा देते हैं. एक घंटा में खेला करने का काम किया. रातों-रात नीतीश कुमार और सुशील मोदी बियाह कर लेते हैं. आज जो हमारा दिल गदगद हो गया मेरे भाई. मैं सोउंगा नहीं, सांस नहीं लूंगा, जब तक बीजेपी के राज को नहीं छीन लूंगा.

इस दौरान लालू यादव ने नीतीश कुमार को दलबदलू भी कहा. नीतीश कुमार को कोई सिद्धान्त नहीं है. वह बोले कि नीतीश कुमार दलित से नफरत करते हैं. नीतीश ने शराब बंद की तभी मैंने कहा था कि ऐसे शराब नहीं रुकेगी. शराबबंदी के नाम पर 40 हजार गरीब लोगों को जेल में बंद कर दिया. गरीब लोगों के लिए रिजर्वेशन की बात कही, लेकिन नीतीश कुमार ने नहीं किया ऐसा. नीतीश कुमार सच में पलटूराम है.

वहीँ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी डिजिटल पार्टी है, अगर वो गूगल से देख रहे होंगे तो जानते होंगे कि हालात क्या है. हम देश बचाना चाहते है, क्योंकि देश को इन्होंने (बीजेपी) पीछे कर दिया है. अब तो 3 साल गुजर गए. अच्छे दिन वाले न्यू इंडिया की बात करने लगे.

Loading...