हरियाणा के मुस्लिम बहुल इलाके मेवात में हरियाणा सरकार द्वारा बिरयानी में बीफ की जांच को लेकर शुक्रवार को मेवात के वकीलों ने सरकार के खिलाफ मौर्चा खोल दिया हैं.

नूहं में वकीलों द्वारा की गई कॉन्फ्रेंस में बिरयानी की जांच को राजनितिक बिरयानी का मामला बताते हुए कहा कि इस के बहाने मेवात के आपसी भाईचारे को बिगाड़ने की साजिश रची जा रही है.

उन्होंने इस मुद्दें पर महापंचायत करने के साथ हाई कोर्ट में पीआईएल दाखिल करने की बात कही हैं.  वकीलों ने कहा है कि बिरयानी की जांच की बजाए गो-हत्यारों और गो का मीट बेचने वालों को गिरफ्तार करें न की अपने बच्चों का पेट पालने वालों को परेशान करें.

वकीलों ने दावा किया कि ‘पकने के बाद मीट की जांच ही नहीं की जा सकती, अगर जांच हो तो इसका पता नहीं लगाया जा सकता की यह कौन से पशु का मीट है?’ इसके अलावा मेवात के पुलिस कप्तान का कहना है कि अभी तक उनको जाँच रिपोर्ट हासिल नहीं हुई है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?