mojah

mojah

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में 24 घंटे लगातार आतंकियों से मुकाबले में शहीद हुए बिहार के आरा के रहने वाले सीआरपीएफ कांस्टेबल मोजाहिद खान को को अंतिम विदाई देने के लिए सैंकड़ों लोग आरा पहुंचे.

मोजाहिद खान का पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. मूल रुप से पीरो गांव निवासी मोजाहिद खान मोकामा में सितम्बर 2011 में सीआरपीएफ के 49वीं बटालियन में भर्ती हुए थे. केरल के पलीपुरम में उनकी ट्रेनिंग हुई. जिसके बाद हैदराबाद में पोस्टिंग के बाद छह महीने पहले उनकी बटालियन श्रीनगर रवाना हुई थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शहीद जवान की मौत की खबर ने जहाँ पूरे घर को मातम में डाल दिया है वही पूरे इलाके उनकी शहीद होने पर मर्माहत में है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जवान मुजाहिद खान की शहादत पर आज गहरी संवेदना व्यक्त की.

नीतीश कुमार ने मुजाहिद खान की शहादत पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी शहादत को देश हमेशा याद रखेगा. मुख्यमंत्री ने इस वीर सपूत की शहादत पर उनके परिजनों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.

उन्होंने कहा है कि पूरा बिहार शहीद के परिवार के साथ है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि शहीद जवान के निकटतम आश्रित को राज्य सरकार की ओर से अनुग्रह अनुदान दिये जाने के साथ शहीद जवान मुजाहिद खान का राज्य सरकार की ओर से पुलिस सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जायेगा.

Loading...