रामनवमी के मौके पर सुनियोजित तरीके से समस्तीपुर दंगे में मस्जिदों और मदरसों को निशाना बनाया गया था. ऐसे में अब क्षतिग्रस्त मस्जिद और मदरसें के लिए नीतीश सरकार ने फण्ड जारी किया है.

समस्तीपुर दंगे में क्षतिग्रस्त गुदरी मस्जिद और मदरसे को दुरुस्त कराने के लिए दो लाख रुपये से ज्यादा की राशि जारी की गई है. इसके अलावा औरंगाबाद और नवादा के हिंसा प्रभावित लोगों के लिए भी फंड जारी किया गया है.

साथ ही औरंगाबाद में हिंसा के दौरान कई दुकानों को जला दिया गया था. राज्य सरकार ने प्रभावित लोगों को मुआवजा देने के लिए 25 लाख रुपये जारी किए हैं. इसके अलावा नवादा हिंसा की चपेट में आए छह लोगों के लिए साढ़े आठ लाख रुपये का फंड जारी किया गया है.

हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस फैसले के उनकी सरकार में सहयोगी बीजेपी ने विरोध शुरू कर दिया है. समस्तीपुर के जिला भाजपा अध्यक्ष राम सुमिरन सिंह ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार ने एक खास समुदाय को मुआवजा देने का निर्णय लिया है.

वहीँ बजरंग दल के नेता आरएन. सिंह ने नीतीश कुमार पर तुष्टिकरण की नीति अपनाने का आरोप लगाया है. न्होंने कहा कि उनका संगठन सरकार के इस निर्णय का विरोध करेगा. आरएन. सिंह ने कहा, ‘भाजपा हिंदुत्व को लेकर सिर्फ बातें करती है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें