पानी के विवाद में 11 मई को महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले मे राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होने हिंसा को प्रायोजित बताते हुए कहा कि हिंसा के लिए हथियार फ्लिपकार्ट पर खरीदे गए थे।

बता दें कि मोतीकारंजा परिसर में प्रशासनिक कार्रवाइ के तहत अनाधिकृत नल पाइप कनेशक्शन तोड़ने से शुरू हुए विवाद में भीड़ ने तलवारें, चाकू, लाठियों से हमला किया था। इस हिंसक झड़प में एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई। पथराव और हिंसक हमले में करीब 15 पुलिसकर्मियों सहित करीब 50 लोग घायल हुए।

एएनआई के मुताबिक, फडणवीस ने कहा कि हिंसा के लिए हथियार फ्लिपकार्ट पर खरीदे गए थे। जिन कंपनियों से ये हथियार खरीदे गए, उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिए गए हैं।

पुलिस ने हिंसा के मास्टमाइंड लक्ष्मीनारायण बखरिया उर्फ लच्चू पहलवान को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि पुलिस पर भी हिंसा भड़काने और दंगाइयों को साथ देने के आरोप हैं। उपद्रव के दौरान के कुछ वीडियो सामने आए। जिनमे पुलिस दंगाइयों के साथ नजर आ रही है।