Courtesy: Lokbharat

विदेश भेजने के नाम पर बिहार में गरीब मुस्लिम लड़के कबूतरबाज गैंग के निशाने पर है। इन गरीब लड़कों को इराक, सीरिया जैसे देशों में भेजे जाने के नाम पर लाखों का चुना लगाया जा रहा है।

नौकरी के नाम पर विदेश भेजने का ये गोरखधंधा गोरखपुर में ही चल रहा है। पुलिस ने इस मामले मे ग्लोबल वेल्डिंग ट्रेनिंग और टेस्ट सेंटर पर छापा मारकर 8 लोगों को गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ के मुताबिक एक आरोपी अनवर अंसारी भी है, जो कि कुशीनगर का रहना वाला है। अनवर का काम विशेष रुप से गरीब मुस्लिम लड़कों को बहला विदेश जाने के लिए तैयार करना था। इसके लिए बाकायदा कुशीनगर, देवरिया, मुजफ्फरपुर, बेतिया (बिहार) का क्षेत्र उसे मिला था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गैंग के मास्टरमाइंड रजनीश कुमार मल्ल को लगता था कि गरीब मुस्लिम युवक अनवर अंसारी की बात पर जल्दी तैयार हो जाएंगे। अनवर फर्म के लिए कम्प्यूटर ऑपरेटर का काम करता था। लेकिन मुस्लिम लड़कों को विदेश जाने के लिए तैयार करने पर 10 हजार रुपये की सैलरी के अलावा उसे विशेष कमीशन भी मिलता था। यह कमीशन 3 हजार से 5 हजार रुपये प्रति व्यक्ति तक होता था।

अनवर मुस्लिम युवकों को भरोसा देता था कि उन्हें सस्ते में सुरक्षित रास्ते से नौकरी ने के लिए विदेश भेजा जाएगा। बेरोजगार युवकों को रोजगार दिलाने के लिए विदेश भेजने के लिए ग्लोबल वेल्डिंग ट्रेनिंग और टेस्ट सेंटर रजिस्टर्ड फर्म थी। यहां से लोगों को प्रतिबंधित देशों में भी दुबई के रास्ते अवैध तरीके से भेजा जा रहा है।

इस फर्म में कुछ युवकों का इंटरव्यू लिया था, मई में उन्हें विदेश भेजा जाना था। लेकिन बाद में कुछ युवकों ने जाने से इंकार कर दिया और संख्या कम होने से फर्म ने प्रोग्राम कैंसल कर दिया था। इसके बाद एसटीएफ इनके अगले बड़े कदम का इंतजार कर रही थी।

Loading...