simi

भोपाल की सेंट्रल जेल से कथित सिमी सदस्यों की कथित फरारी और मध्यप्रदेश पुलिस के हाथों कथित मुठभेड़ की जांच के लिए बने न्यायिक आयोग ने भोपाल सेंट्रल जेल को भेजकर नियुक्त अधिकारियों से इस पूरी घटना की जानकारी सवालों में मांगी हैं.

न्यायिक आयोग सवालों के जरिए पूछा कि न्यायिक आयोग नियुक्त अधिकारियों से जानना चाहता है कि किन हालातों में अंडरट्रायल कैदी जेल से भागे थे. इस घटना के दौरान सिमी के आठ संदिग्धों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था. याद रहें कि 1 नवंबर को भोपाल सेंट्रल जेल से लगभग 15 किमी दूर एक मुठभेड़ में मार गिराया था.

इस कथित मुठभेड़ को लेकर काफी सवाल खड़े हुए थे. मध्य प्रदेश एटीएस प्रमुख ने मुठभेड़ के फौरन बाद ऑन रिकॉर्ड बयान दिया था कि मारे गए सभी आरोपी निहत्थे थे. ऐसे में ये पूरी मुठभेड़ को एक साजिश का नाम दिया गया था. आरोपियों के परिजनों ने इस एक साजिशन हत्या करार देते हुए जांच की  मांग की थी.

इस आयोग का नेतृत्व हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति एसके पांडेय कर रहे हैं. इस आयोग को अनिवार्य रूप से तीन महीने के भीतर अपनी जांच के नतीजे देने है. आयोग ने मुठभेड़ में शामिल पुलिस अधिकारियों के बयान दर्ज करने शुरू कर दिए हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें