धार: मध्यप्रदेश के प्रमुख संवेदनशील धार्मिक स्थल भोजशाला में एक बार फिर से साम्प्रदायिक तनाव फैलाने की कोशिश की गई. गत शुक्रवार को भोजशाला में नमाज के दौरान पटाखे जैसी सामग्री फेंकी गई. ताकि शहर की फिजाओं में एक बार फिर से साम्प्रदायिकता का जहर घोला जा सके.

इस घटना को लेकर मुस्लिम समाज में काफी गुस्सा हैं जिसके चलते उन्होंने शहर काजी वकार सादिक के नेतृत्व में एसपी से मुलाकात कर ज्ञापन भी सौंपा. जिसमे कहा गया कि भोजशाला में नमाजियों पर विस्फोट सामग्री फेंकने की कोशिश की गई. इसमें नमाजियों की सुरक्षा की मांग की गई है. शहर काजी ने बताया कि घटना गंभीर है और शहर के अमन को धक्का पहुंचाने वाली है. हिंदू-मुस्लिम यहां शांतिप्रिय तरीके से मिल जुलकर रहते हैं. शरारती तत्वों का यह कृत्य हिंदू-मुस्लिम के बीच खाई पैदा करने की कोशिश है. इसे कोई भी स्वीकार नहीं करेगा. इसके बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ पुरातत्विक धरोहर को नुकसान पहुंचाने के मामले में प्रकरण दर्ज किया.

अब इस मामलें में गुरुवार को पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया हैं. पुलिस ने इंदौर से आरोपी लोकेश पिता रघुनाथ परमार को गिरफ्तार किया हैं. पुलिस पूछताछ में पता चला कि पंचमुखी हनुमान मंदिर में अनशन करने वाला और पाकिस्तान का झंडा जलाने वाला सोमनाथ बाबा पूरे मामले का षड्यंत्रकारी है. लोकेश के मुताबिक सोमनाथ ने विस्फोटक जैसी वस्तु नमाज के दौरान भोजशाला में फेंकने के लिए बहकाया था.

पुलिस के अनुसार, वह घटना को अंजाम देने के बाद इंदौर आ गया. पुजारी सोमनाथ ने उसे रेलवे स्टेशन पर मिलने का कहा था, लेकिन दो दिन तलाशने पर वहां नहीं मिला. आरोपी की निशानदेही पर बाइक कश्यप भवन के पास पार्किंग से जब्त की. जिस थैली में विस्फोटक सामग्री सोमनाथ ने लोकेश को भोजशाला के ऊपर छत पर फेंकने के लिए दी थी उसे भोजशाला के पीछे तार फेंसिंग के पास झाड़ियों से जब्त कर लिया.

गौरतलब रहें कि भोजशाला पर दोनों समुदायों का दावा हैं. जिसके चलते हिन्दू समुदाय को भोजशाला में बसंतपंचमी पर पूजा करने की और मुस्लिम समुदाय को शुक्रवार को नमाज अदा करने की इजाजत दी हुई हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें