त्रिपुरा में बीजेपी की जीत के साथ शुरू हुआ मूर्तियों को तोड़े जाने के सिलसिला अब उत्तरप्रदेश तक पहुँच गया है. मंगलवार देर रात मेरठ में संविधान निर्माता डॉ.भीमराव अंबेडकर की मूर्ति तोड़ दी गई.

मवाना इलाके में घटी इस घटना के बाद लोगों में आक्रोश फ़ैल गया. जिसके बाद पुलिस ने अंबेडकर की मूर्ति बदलने का आश्वासन देने के साथ अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. इस मामले में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इस प्रकार के मूर्ति कांड पर नाराजगी जाहिर की है.

बता दें कि बीजेपी समर्थकों ने त्रिपुरा में रूसी क्रांति के नायक व्लादिमिर लेनिन की प्रतिमा पर बुलडोजर चड़ा दिया गया था. वहीँ तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में समाज सुधारक ईवीआर रामास्वामी ‘पेरियार’ की प्रतिमा को में तोड़फोड़ की गई. ये तोड़फोड़ भी बीजेपी समर्थक ने की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिसके बाद बुधवार यानी आज सुबह कोलकाता में  जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की दक्षिण कोलकाता में कुछ अज्ञात लोगों ने तोड़ दी. पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आगे बताया कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चेहरे पर कालिख भी पोती गई. यहां से एक पोस्टर भी मिला है जिस पर ‘ “कट्टरपंथी” लिखा है.